बुधवार के दिन कैसे मनाएं सिद्धिविनायक को, जानिए

बुधवार के दिन कैसे मनाएं सिद्धिविनायक को, जानिए

भगवान सिद्धिविनायक सभी के दुःखों को हर लेते है। प्रसन्न होने पर भगवान गणेश भक्तों की सभी मन्नतें पूरी करते हैं। किसी भी शुभ कार्य को शुरू करने से पहले भगवान गणेश की पूजा की जाती है। बुधवार भगवान गणेश की उपासना के अलावा बुध ग्रह, जो बुद्धि व धन का कारक भी माना गया है, इसके दोष शमन का भी दिन है।

बुद्धि दोष या धन का अभाव जीवन में असफलता और दुखों का कारण बन सकता है। इसलिए शास्त्रों में इस दिन बुध दोष शांति और गणपति को प्रसन्न करने के लिए अलग-अलग उपाय बताए गए हैं, जो आसान भी हैं और बुद्धि व धन की कामनाओं की सिद्धि के लिए बेहतर भी हैं। कोई भी व्यापार यदि बुधवार को प्रारंभ किया जाए तो उसमें सफलता की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि वे बुधवार के दिन किसी को भी धन नहीं दें। बुधवार का दिन धन संग्रह के लिए है ना कि धन देने के लिए ।

बुधवार का दिन बुध ग्रह से संबंधित है, जिसके अधिपति स्वयं लक्ष्मी नारायण विष्णु हैं। लक्ष्मी तभी प्रसन्न होंगी जब नारायण प्रसन्न रहेंगे। ऐसे में बुधवार के दिन नारायण को प्रसन्न करने के लिए विशेष पूजा-अर्चना करें।

बुधवार को किया गया धन संग्रह अधिक समय तक स्थायी रहता है। धन की वृद्धि से जुड़े सभी कार्यों के लिए बुधवार सर्वश्रेष्ठ वार है। इस दिन बैंक में जमा खाता खुलवाना, बीमा करवाना, धन का आदान प्रदान करना, रुपऐ पैसों का लेन देन करना, इन्वेस्टमेन्ट करना, गोदाम में माल भरना इत्यादि कार्य करने शुभ रहते हैं ।

यदि आप बुधवार के दिन किसी शुभ कार्य के लिए जा रहे हैं तो गणेश जी को मोदक प्रसाद के रूप में चढ़ाएं और फिर प्रसाद ग्रहण करके लक्ष्य की ओर निकलें। ऐसा करने पर आपके सभी कार्य समय पर पूर्ण होंगे और सफलता प्राप्त होगी।


Share
Bulletin