लगातार एसी में बैठने से पड़ने लगती है त्वचा पर झुर्रियां

लगातार एसी में बैठने से पड़ने लगती है त्वचा पर झुर्रियां

गर्मी से बचने के लिए लोग घरों और एसी का इस्तेमाल करते है वहीं कुछ ऑफिस और हॉस्पिटल में तो वेंटिलेशन की व्यवस्था नहीं होने से सर्दी और गर्मी दोनों मौसम में एसी चलाई जाती है  वहां पर बिना एसी के रहना संभव भी नहीं है ऐसे में एसी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भी हो सकती है।

हमेशा एसी चलाना सेहत पर भारी पड़ सकता है खासतौर पर एसी के लगातार संपर्क में रहने से लो ब्लड प्रेशर और ऑर्थराइटिस का खतरा रहता है अगर कोई व्यक्ति लंबे समय से किसी पुरानी बीमारी से ग्रस्त है तो एसी में कम से कम बैठना चाहिए।

प्राकृतिक हवा स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होती है एसी ऑन होती है तो सारे दरवाजे बंद कर दिए जाते है ऐसे में बाहरी हवा का बिल्कुल भी प्रवेश नहीं होता इससे कृत्रिम हवा से बॉडी के डवलपमेंट पर असर पड़ता है प्राकृतिक हवा नहीं मिलने से ग्रोथ में रूकावट आने लगती है।

इसके अलावा कमरे का तापमान अधिक ठंडा हो जाता है जिससे हड्डियों की समस्या होने लगती है ठंड से हड्डियां कमजोर होने लगती है इसके बाद खड़े होने में भी प्रॉब्लम होने लगती है।

कमरे में अगर हवा का आवागमन हो तो वहां पर नमी भी बनी रहती है। पसीना सूखाने के लिए एसी तो ऑन करते है लेकिन ये मौजूद नमी को भी अपनी तरफ खींच लेती है इससे स्कीन रूखी होने लगती है त्वचा खींचने लगती है जिससे झुर्रियां दिखने लगती हैं।


Share
Bulletin