कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या, लिया था 2 लाख का लोन

कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या, लिया था 2 लाख का लोन

मुंगेली : जिले के फास्टरपुर थाना  के ग्राम शुक्लाभाटा में कर्ज से परेशान किसान ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना की जानकारी के बाद पुलिस बल ग्राम शुक्लाभाटा पहुंची और शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

कर्ज से परेशान होकर किसान द्वारा आत्महत्या करने की जानकारी जैसे ही प्रशासन को मिली, मुंगेली एसडीएम मौके पर पहुंचे। मृतक के परिजनों से मुलाकात कर सांत्वना दिए। मृतक के परिजनों के मुताबिक किसान विजय अंचल ने किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम बैंक से दो लाख का कर्ज लिया हुआ था।

इसी के चलते काफी परेशान रहता था। उसी परेशानी के कारण उसने खुदकुशी की है। मामले की जानकारी मिलने पर जोगी कांग्रेस नेता एवं मरवाही विधायक अमित जोगी भी मृतक किसान के घर पहुंचे और पीड़ित परिवार से मुलाकात का।

इस दौरान मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार की नाकामी के चलते अन्नदाता कहे जाने वाले किसान आज कर्ज के तले दबकर खुदकुशी करने को मजबूर है। प्रदेश सरकार इसे रोकनी में पूरी तरह से नाकाम है।

आज जब बीजेपी की केंद्र सरकार कई प्रदेशों में किसानों का कर्ज माफ कर रही है, तो हमारे प्रदेश में सत्ता पर काबिज बीजेपी के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह किसानों के कर्ज माफी कराने केंद्र सरकार से क्यों चर्चा नहीं करते।

आज किसानों के आत्महत्या करने के मामले में पूरे देश में हमारा प्रदेश 3 स्थान पर है। यहां का किसान कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या करने को मजबूर है। किसानों को एक साल का बोनस का झुनझुना पकड़ाने से कुछ नहीं होगा।

अगर शासन किसानों के लिए कुछ करना चाहती है, तो उनका कर्ज पूरी तरह से माफ करें। उन्होंने जिले के प्रभारी मंत्री दयाल दास बघेल और स्थानीय विधायक एवं प्रदेश के खाद्यमंत्री पुन्नूलाल मोहले के ऊपर भी निशाना साधा और कहा कि जिले में किसान आत्महत्या कर रहे है और सत्ता पक्ष के लोग अपना स्वागत करा रहे है।

डीजे में नाच गाना हो रहा है। ये संवेदनहीनता की पराकाष्ठा नहीं  है, जिनके पास मृतक किसान के परिजनों मिलने का समय नहीं है। इस मामले में प्रशासन ने मृतक के ऊपर किसी भी प्रकार के कर्ज होने से इंकार किया है। उनका कहना है कि मृतक के नाम से कोई जमीन ही नहीं थी और उसने बीमारी से परेशान होकर खुदकुशी की है।


Share
Bulletin