साजा विधानसभा में बीजेपी की सियासत गर्म, बसंत अग्रवाल ने अपने आप को दावेदार के रूप में किया प्रस्तुत

साजा विधानसभा में बीजेपी की सियासत गर्म, बसंत अग्रवाल ने अपने आप को दावेदार के रूप में किया प्रस्तुत

दिलीप साहू - छत्तीसगढ़ की हाई प्रोफाइल सीट माने जाने वाले साजा विधानसभा में बीजेपी की सियासत भी गरमा गई है साजा की बीजेपी की  राजनीति में खैरागढ़ के राजपरिवार और मुख्यमंत्री के रिश्तेदार  के द्वारा दावेदारी में शामिल हो गई हैं। अब तक देखा जा रहा था कि छत्तीसगढ़ के हाई प्रोफाइल सीट कहे जाने वाले साजा विधानसभा में आजादी के 65 साल बाद लाभचंद बाफना ही बीजेपी के रहे जिन्होंने कांग्रेस के रविंद्र चौबे को हराकर वहां पर पहली बार भाजपा का झंडा फहराया था।

रविंद्र चौबे को हराने की एवज में उन्हें इनाम स्वरूप संसदीय सचिव भी बनाया गया। अब साजा में बीजेपी के ही लोग लाभचंद बाफना को बाहरी कह कर विरोध कर रहे हैं तो वहीं युवा नेता बसंत अग्रवाल अपने आप को दावेदार के रूप में प्रस्तुत कर रहे हैं। अक्सर देखा जाता है कि साजा की राजनीति में संसदीय सचिव लाभचंद बाफना और युवा नेता बसंत अग्रवाल के बीच आपसी विवाद पार्टी से खुलकर आता है।

ऐसे में अब खैरागढ़ राज परिवार से संबंध और मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के रिश्तेदार  प्रेरणा सिंह ने महिला प्रत्याशी के रूप में  साजा विधानसभा से बीजेपी में विधायक की टिकट के लिए दावेदारी ठोक दी है। प्रेरणा सिंह के अचानक से दावेदारी ठोकने से साजा की राजनीति में हलचल  तो मच गई। वहीं स्थानीय लोग भी खुश नजर आ रहे हैं।  आपसी दो घुट में बैठे साजा विधानसभा में बीजेपी को उबारने के लिए लोग प्रेरणा सिंह को ही बेहतर विकल्प  मार रहे हैं।

 

 


Share
Bulletin