लोन दिलाने के नाम पर करोड़ो की ठगी, आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

लोन दिलाने के नाम पर करोड़ो की ठगी, आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

प्रार्थी को वर्ष 2014 में कंपनी के विकास विस्तार के लिए लोन की जरूरत थी इस दौरान प्रार्थी की मुलाकात रायपुर निवासी श्याम सुंदर अग्रवाल से हुई उसने शुभम सिंघल की कंपनी के लिए 700 करोड़ का लोन जिंदल ग्रीन एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड से दिलाने की बात कही जिस पर शुभम से इस रकम पर दो प्रतिशत कमीशन का वादा किया दोनों पक्षों में बात होने के बाद श्याम सुंदर ने कंपनी संचालक शुभम सिंघल से 14 लाख रुपए ले लिया जिसके बाद आरोपियों ने ईस्ट एशिया ट्रेडिंग इंटर नेशनल लिमिटेड कंपनी का रजिस्ट्रेशन कराया।

रायपुर निवासी है श्याम सुंदर

जिसमें पार्टनर के तौर पर कार्तिक सुब्रमणियम और नीलिमा ठाकुर को शामिल किया गया इसके बाद आरोपी श्याम सुंदर अग्रवाल ने अपनी फर्जी कंपनी के लिए गुजरात से तेजस पटेल और कलकत्ता के निविर शाह को सीए नियुक्त कर इनके खाते में 7-7 लाख रुपए कंपनी के मालिक ने उनके खाते में ट्रांजेक्शन कर दिए जिसके बाद मुख्य आरोपी श्याम सुंदर अग्रवाल ने विदेश बैंक से लोन दिलाने वाले दलाल बंगलौर निवासी डॉ सरवर सादिक अहमद से संपर्क करने पर उसने अशोका एल्यूमिनियम प्राइवेट लिमिटेड कंपनी को लोन दिलाने के लिए हामी भर दी।

प्रार्थी को दी झूठी जानकारी

उसके बाद माह गुजरने पर जब प्रार्थी ने आरोपी श्याम सुंदर अग्रवाल से लोन के बारे में पूछा तो वह उसे लगातार कुछ न कुछ बहाने बनता रहा और दस्तावेज तैयार करने के नाम पर 2.5 करोड़ रुपए आरोपी ले चुका था रुपए देने के बाद लोन नहीं मिलने पर शुभम लगातार श्याम से संपर्क करता रहा लेकिन हमेशा उसे लोन दिलाने के नाम पर टालता रहा इस बीच आरोपी ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के फर्जी दस्तावेज तैयार कर 7 सौ करोड़ रुपए लोन पास होने की जानकारी प्रार्थी को दी।

अन्य धाराओ में मामला दर्ज

आरोपी ने आरबीआई के दस्तावेज को पीड़ित ने बैंक स्तर पर पता किया तो उसके होश उड़ गए क्योकी सारे दस्तावेज फर्जी निकले जिसके बाद प्रार्थी ने खुद को ठगा महसूस करते हुए पीडि़त ने घटना की सूचना नंदिनी पुलिस में सितम्बर 2017 में लिखित शिकायत थाने में की करोड़ की ठगी का मामला से पुलिस हरकत में आने के बाद लम्बे समय के बाद मुख्य आरोपी श्याम सुंदर अग्रवाल को विधानसभा चौके के पास से गिरफ्तार किया है बाकि आरोपियों को पुलिस तफ्तीश में जुट गई है पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी सहित विभिन्न धाराओ के तहत कार्यवाही करते हुए मामले की जाँच में जुट गई है।


Share
Bulletin