मार्केट में आया कंबल वाले बाबा का ट्रेंड, गर्माएगी सियासत

मार्केट में आया कंबल वाले बाबा का ट्रेंड, गर्माएगी सियासत

गृह मंत्री का इलाज कर सुर्खियों में आये कम्बल वाले बाबा पर अब सियासत तेज हो गई है, कुछ दिन पहले जिला प्रशासन ने कम्बल वाले बाबा के कैम्प करने पर प्रतिबन्ध लगा दिया था, जिसके बाद गणेश यादव उर्फ़ कम्बल वाले बाबा ने दावा किया था की वे भाजपा के स्टार प्रचारक हैं। और वे जल्दी ही कांग्रेस के एक विधायक सहित सैकड़ो कार्यकर्ताओं को भाजपा में प्रवेश करायेंगे।

जिसके बाद कांग्रेस की भी प्रतिक्रया आई है, नेता प्रतिपक्ष ने गृह मंत्री पर निशाना साधते हुए कहा की वे अंधविश्वास फैला रहे हैं। और यदि कम्बल वाले बाबा के इलाज का फ़ायदा हो रहा है तो सरकार को प्रदेश के सभी अस्पताल बंद करा देना चाहिए और सभी डॉक्टर को छुट्टी दे देनी चाहिए, तो वही कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने चुटकी लेते हुए कहा है की हमें कम्बल वाले बाबा से कोई फर्क नहीं पड़ता है, हमारे पास टी एस बाबा हैं, प्रदेश में चुनावी बयार शुरू हो गई है। ऐसे में ये कम्बल वाले बाबा भाजपा को कितना फायदा पहुंचा पायेंगे, ये तो वक्त ही बताएगा, लेकिन फिलहाल कम्बल वाले बाबा को लेकर कांग्रेस और भाजपा दोनों आमने सामने हैं।

गौरतलब है कि हमारे भारत में प्रतिदिन ऐसे बाबाओं का सृजन हो रहा है और जनता को मूर्ख बनाकर ये अपनी जेबे आसानी से भर लेते है। लेकिन कंबल वाले बाबा से जो सियासी मुद्दा तेज होता दिखाई दे रहा है। उससे तो यही स्पष्ट दिखाई दे रहा है कि आने वाले समय में सियासत इन्हीं कंबल वाले बाबा से गर्माएगी।


Share
Bulletin