मासूम से हैवानियतः विरोध में एंकर ने बच्ची को गोद में लेकर पढ़ी न्यूज

मासूम से हैवानियतः विरोध में एंकर ने बच्ची को गोद में लेकर पढ़ी न्यूज

भारत के पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में एक सात साल की बच्ची जैनब अंसारी के साथ रेप के बाद हत्या कर दी गई, जिसके बाद पूरे पाकिस्तान में इसका विरोध किया जा रहा है वहां की कई बड़ी हस्तियों ने इसकी निंदा की है। इस बीच पाकिस्तान के एक न्यूज चैनल समा की एंकर किरण नाज ने मानवता को शर्मसार कर देने वाली इस घटना का नायाब तरीके से विरोध किया, किरण नाज ने न्यूज स्टुडियो में खबर पढ़ने के दौरान गोद में अपनी बेटी को बैठाया हुआ था, और बुलेटिन की शुरुआत करते हुए उन्होंने कहा, ''आज मैं किरण नाज नहीं ,बल्कि एक मां हूं, इसलिए अपनी बच्ची के साथ बैठी हूं।''

'जनाजा जितना छोटा होता है..उतना ही भारी होता है....

उन्होंने कम शब्दों में दिल को भेद देने वाली बात कही उन्होंने भावुक होकर कहा 'जनाजा जितना छोटा होता है..उतना ही भारी होता है। ऐसा ही नन्हा जनाजा कसूर की सड़कों पर रखा हुआ है, और पूरा पाकिस्तान इसकी बोझ तले दबा हुआ है.'' उस वक्त उन्होंने गोद में अपनी बेटी को बैठाया हुआ था,समा न्यूज चैनल के एंकर किरण नाज का ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ और उनकी तारीफ हो रही है।

किरण ने कहा, ''इस मुल्क में एक ही झटके में कई दर्जन लोगों का शहीद हो जाना गैरमामूली बात नहीं है, कौन मारता है, क्यूं मारता है, इस सवाल का जवाब भी कई बार नहीं मिलता।

मां- बाप कर रहे थे दुआ यहां कट रही थी डोर...

एंकर की बातों से पता चलता है कि बच्ची के मां-बाप अरब में थे, अपने बुलेटिन में किरण नाज ने आगे कहा, ''अजीब कहानी है, इस मजलूम और लाचार बच्ची की, उधर मां-बाप अरब में बैठकर दुआ कर रहे थे,इधर कसूर में कोई दरिंदा उसी की जिंदगी की डोर काट रहा था,उधर मां-बाप जैनब के लिए खिलौने खरीद रहे थे,इधर कोई वहशी उसकी लाश कचरे में फेंक रहा था।

अंत में उन्होंने कहा ''जैनब को आपके इंसाफ की जरूरत नहीं है,उसका इंसाफ कमायत के दिन उसका अल्लाह करेगा,जब वो अपनी छोटी सी कब्र से उठकर पूछेगी कि मुझे किस जुर्म में मारा है, उस वक्त वो कमजो़र नहीं बल्कि सबसे ताकतवर होगी।


Share
Bulletin