सऊदी अरब में आ रहा है बदलाव का युग

सऊदी अरब में आ रहा है बदलाव का युग

आज जो 21वी सदी का युग चल रहा है उसमें ज्यादा से ज्यादा यह उम्मीद की जाती है महिलाएं स्वतंत्र रहे। स्वतंत्र रहकर अपने निर्णय ले। लेकिन आज भी कई जगह ऐसा है जहां महिलाओं के प्रति अति रूढिवादिता अपनाई जा रही है। सउदी अरब की बात की जाए तो वहां महिलाओं को लेकर इतनी इतना सख्त रवैया अपनाया जाता ​था जिससे महिलाएं अपने निर्णय ले ही नहीं पाती थी। लेकिन हाल ही में सउदी अरब में पहली बार कुछ ऐसा हुआ जो कि बहुत ही सरहनीय कदम महिलाओं के लिए रहा है। देश सऊदी अरब में कल पहली बार महिलाओं को स्टेडियम में बैठकर फुटबॉल मैच देखने की इजाजत दी गयी।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक महिलाओं के लिए जेद्दाह के किंग अब्दुल्ला स्पोर्ट्स सिटी स्टेडियम में खास दीर्घा बनायी गयी। इसके साथ ही विशेष रेस्टरूम और अलग प्रवेश द्वार भी बनाये गये।

महिला दर्शकों के स्वागत के लिए महिला कर्मचारी तैनात की गयीं। स्टेडियम में महिलाओं के बैठने के लिए अलग से ‘परिवार दीर्घा’ बनाये गये जहां बैठकर महिलाओं ने जमकर मैच का लुत्फ उठाया, खूब सेल्फी ली और अपनी पसंदीदा टीम का हौसला बढ़ाया। सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान के सुधार कार्यक्रमों से जोड़ कर देखा जा रहा है। इसमें महिलाओं को अगले जून से वाहन चलाने की अनुमति देना भी शामिल है।


Share
Bulletin