भदईं अमावस्या मेले में देशभर से 10 लाख श्रद्धालुओं ने मंदाकिनी में लगाई डुबकी

भदईं अमावस्या मेले में देशभर से 10 लाख श्रद्धालुओं ने मंदाकिनी में लगाई डुबकी

रामनरेश श्रीवास्तव - प्रभु श्रीराम की तपोभूमि चित्रकूट में भदईं अमावस्या मेले में देशभर से आए करीब 10 लाख श्रद्धालुओं ने मंदाकिनी में डुबकी लगाकर कामदगिरि की परिक्रमा की, लेकिन मझगँवा एसडीएम ओमनारयण  द्वारा प्रमुख दर्शनीय स्थल गुप्त गोदावरी की द्वितीय गुफा को बंद करा देने से श्रद्धालु प्राकृतिक गुफाओं के दर्शन नही कर पाए, एसडीएम ने करीब 5 घंटे तक गुफा के प्रवेश द्वार का गेट नही खोलने दिया जिससे करीब 2 हजार से ज्यादा श्रद्धालु प्राकृतिक गुफा के दर्शनों से वंचित रह गए।

एसडीएम का किया गया घेराव

श्रद्धालुओ की आस्था को ठेस पहुंचते देख चित्रकूट के साधु संत और स्थानीय लोग बड़ी संख्या में एसडीएम को घेर लिया तब हालात बिगड़ते देख एसडीएम ओमनारायण ने गुफा के गेट खुलवाये  इसके बाद श्रद्धालुओं ने गुफाओं के दर्शन किया आपको बता दें कि इन गुफाओं के बारे में पुराणो के लेख अनुसार त्रेतायुग में प्रभु श्रीराम को वनवास के दौरान आश्रय हेतु देवताओं ने इन अद्वितीय गुफाओं का निर्माण कराया था।

बाढ़ और ऑक्सीजन की वजह से गुफाये बंद

आज भी प्राकृतिक छटाओ के साथ विद्यमान है इन गुफाओं की  प्राक्रतिक बनावट को देखने दूर दूर से श्रद्धालु पहुंचते है बताया जाता है कि प्रभु की ऐसी कृपा है कि इन गुफाओं के अंदर हज़ारों की  तादाद में श्रद्धालु प्रवेश कर जाते है लेकिन आज तक कोई अप्रिय घटना घटित नही हुई लेकिन एसडीएम ओमनारायण द्वारा गुफाओं के अंदर बाढ़ और आक्सीजन की  कमी की  बात कहकर गुफाएँ बंद करा दीं जिससे स्थानीय लोग और दर्शनार्थी भड़क गए।

 


Share
Bulletin