नए भारत के निर्माण में पूर्वोत्तर की तरक्की अहम : राजनाथ सिंह

नए भारत के निर्माण में पूर्वोत्तर की तरक्की अहम : राजनाथ सिंह

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि नए इंडिया के निर्माण में पूर्वोत्तर की तरक्की अहम है क्योंकि नए भारत का रास्ता विकसित और शांतिपूर्ण पूर्वोत्तर से होकर जाता है सिंह ने मंगलवार को यहां पूर्वोत्तर परिषद के 67वें पूर्ण अधिवेशन के समापन सत्र को संबोधित करते हुए यह बात कही।

2022 तक नए भारत का सपना संभव

उन्होंने कहा कि पीएम नरेन्द्र मोदी का वर्ष 2022 तक नए भारत का सपना पूर्वोत्तर के विकास से ही संभव है उन्होंने बेहतर सडक़ संपर्क और सूचना प्रौद्योगिकी की मदद से पूर्वोत्तर का विकास होगा और एक नए पूर्वोत्तर का आगाज होगा सडक़ संपर्क को दुरुस्त बनाने से क्षेत्र की आर्थिक स्थिति बेहतर होगी।

बढिय़ा ब्रॉडबैंड सेवा उपलब्ध कराते हैं

उन्होंने कहा कि यदि हम बढिय़ा ब्रॉडबैंड सेवा उपलब्ध कराते हैं तो क्षेत्र के युवा अपने इलाकों के आसपास ही रोजगार प्राप्त कर सकेंगे इससे स्थानीय युवाओं के नौकरी के लिए देश के सुदूर क्षेत्रों में जाने में कमी आएगी गृह मंत्री ने कहा कि आईटीआई और पोलिटेक्निक संस्थानों को कौशल विकास में प्रमुख भूमिका निभानी चाहिए एनईसी को कौशल विकास के लिए क्षेत्रीय संस्थान स्थापित करने पर विचार करना चाहिए।

बेहतर माहौल प्रदान करना चाहिए

उन्होंने कहा कि रोजगार और आय वृद्धि से पूर्वोत्तर में विद्रोह जैसी समस्याओं से निपटने में सहायता मिलेगी। पूर्वोत्तर राज्यों को निजी निवेश के लिए बेहतर माहौल प्रदान करना चाहिए ताकि निवेशक सुरक्षित महसूस कर सकें तथा उनकी समस्याओं का समाधान हो सके।

सिंह ने कहा कि कृषि क्षेत्र में विकास किया जाना चाहिए ताकि वर्ष 2022 तक किसानों की आय दुगनी करने के मोदी के सपने को पूरा किया जा सके निर्यात के लिए कम मात्रा -उच्च मूल्य वाली फसलों की खेती करने पर ध्यान देने के जरुरत है कीवी और फूल जैसी जल्दी खराब होने वाली बागवानी फसलों के निर्यात में रेल मंत्रालय सुपरफास्ट एसी डिब्बों के माध्यम से सहायता प्रदान कर सकता है।


Share
Bulletin