आरक्षण तो दिया पर नौकरियां कहां से आएगी, अगर यह चुनावी चाल है तो यह महंगी साबित होगी : शिवसेना

आरक्षण तो दिया पर नौकरियां कहां से आएगी, अगर यह चुनावी चाल है तो यह महंगी साबित होगी : शिवसेना

सामान्य वर्ग को 10 प्रतिशत आरक्षण देने को संसद से मंजूरी मिलने के एक दिन बाद शिवसेना ने गुरुवार को आश्चर्य जताते हुए बताया कि आरक्षण दे देने के बाद नौकरियां कहां से आएंगी गुरुवार को शिवसेना ने आश्चर्य व्यक्त किया कि नौकरियां कहां से आएंगी पार्टी ने साथ ही चेतावनी दी कि अगर यह एक चुनावी चाल है तो यह महंगा साबित होगी।

कहां से मिलेगी नौकरियां

जानकारी के लिए बता दें की शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के एक संपादकीय में कहा है कि जब सत्ता में बैठे लोग रोजगार और गरीबी दोनों मोर्चो पर विफल होते हैं तब वे आरक्षण का कार्ड खेलते हैं। लेख में पूछा गया है कि अगर यह वोट के लिए लिया गया निर्णय है तो यह महंगा साबित होगा। 10 प्रतिशत आरक्षण के बाद रोजगार का क्या होगा और नौकरी कहां से मिलेगी।

सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण

प्राप्त जानकारी अनुसार शिवसेना ने कहा कि मराठा समुदाय को भी महाराष्ट्र में आरक्षण दिया गया है लेकिन सवाल अभी भी यही बना हुआ है कि नौकरियां कहां है मालूम हो कि संसद ने बुधवार को सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को शिक्षा एवं रोजगार में 10 प्रतिशत आरक्षण देने के प्रावधान वाले ऐतिहासिक संविधान संशोधन विधेयक को मंजूरी दे दी है।


Share
Bulletin