गोवा में गरमाई सियासत, उठी राष्ट्रपति शासन की मांग!

गोवा में गरमाई सियासत, उठी राष्ट्रपति शासन की मांग!

शिवसेना ने आज गोवा मुख्य मंत्री और पूर्व रक्षामंत्री की अनुपस्थिति में गोवा में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की मांग की है। बता दें कि गोवा सीएम और मनो​हर पर्रिकर इस समय देश से बाहर है और उनकी इस अनुपस्थिति का फायदा शिवसेना ने उठाया है जिससे गोवा में सियासत गर्म होती नजर आ रही है।

गोवा सीएम और मनोहर पर्रिकर इस समय अपना इलाज करवाने के लिए अमेरिका गए हैं  लेकिन, अब उनकी इस अनुपस्थिति के तहत सिसायत गर्म हो गई है आज मंगलवार को शिवसेना ने उनकी गैर मौजूदगी को देखते हुए गोवा में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की मांग की है राज्य के मुखिया मनोहर पर्रिकर पिछले हफ्ते से अपने इलाज के सिलसिले में अमेरिका गए हुए है।

गौरतलब है कि मनोहर पर्रिकर कई दिनों से स्वास्थ सम्बंधित समस्या को लेकर जूझ रहे है हाल ही में उन्हें देश में भी दो बार अस्पताल में भर्ती होना पड़ा था उन्हें स्थाई रूप से इलाज नहीं मिल पाया है इसे देखते हुए उन्होंने अमेरिका की ओर रूख किया है दूसरी ओर शिवसेना की गोवा प्रवक्ता राखी प्रभुदेसाई नाइक ने इसे लेकर एक बड़ा बयान दिया है प्रभुदेसाई नाइक ने कहा कि पर्रिकर की अनुपस्थिति में राज्य नेतृत्वविहीन हो गया है और कोई भी बिजनेस में चल रहे संकट जैसे मुख्य मुद्दों पर निर्णय लेने के लिए अधिकृत नहीं है।

राखी प्रभुदेसाई नाइक ने आगे अपने बयान में कहा कि गोवा फॉरवर्ड पार्टीके प्रमुख विजय सरदेसाई द्वारा हाल ही में दिया गया बयान इमरजेंसी जैसे हालात की तरह है जो कि फ़िलहाल यह की स्थिति को प्रमुख रूप से दर्शाता है नाइक के बयान के मुताबिक़, राज्य मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की गैरमौजूदगी में सुचारू रूप से नहीं चल पा रहा है यहां का खानपान का व्यवसाय बंद होने की स्थिति में पहुंच गया है। 


Share
Bulletin