सुंजवां आर्मी कैंप हमलाः आतंकी सीमा पार से नहीं त्राल से आए थे

सुंजवां आर्मी कैंप हमलाः आतंकी सीमा पार से नहीं त्राल से आए थे

हाल ही में जम्मू के सुंजवां आर्मी कैंप पर हुए हमले में सेना के पांच जवान शहीद हुए थे। जिसको लेकर कल रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था, कि पाकिस्तान को इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी। रक्षा मंत्री ने ये भी कहा था कि हमले में पाकिस्तानी हाथ के साफ सबूत मिले हैं। लेकिन अब ये बात सामने आ रही है कि हमलावर सीमा पार से नहीं बल्कि जम्मू-कश्मीर के त्राल से ही आए थे।

दरअसल जम्मू कश्मीर के डिप्टी सीएम निर्मल सिंह ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा है कि आतंकी सीमा पार से नहीं, बल्कि जम्मू कश्मीर के ही त्राल से आए थे।

नहीं मिले कोई निशान...

डिप्टी सीएम निर्मल सिंह ने कहा हमले में जो तीन आतंकी मारे गए हैं, उनका जिस प्रकार का पहनावा था, और बूट थे उन पर ऐसा कोई चिन्ह नहीं था जिससे ये लगे वो सीमा पार से आए हैं। सुरक्षा बलों को ये भी आशंका है कि किसी ने मदद की होगी। इस पूरे मामले की जांच चल रही है, जो भी होगा उसे पकड़ा जाएगा।

कब हुआ था हमला...

हथियारों से लैस आतंकवादियों ने जम्मू-कश्मीर लाइट इंफैंट्री के 36 ब्रिगेड के शिविर पर शनिवार को हमला किया था, जिसमें जेसीओ सहित सेना के पांच जवान शहीद हुए, साथ ही एक शहीद जवान के पिता की भी मौत हो गई थी। हमले के दौरान सभी आंतकी सेना की वर्दी में थे, उनके पास से एक-56 राइफल, अंडर बैरेल ग्रेनेड लांचर, गोला-बारुद और ग्रेनेड जब्त किये हैं। फिल्हाल हमले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी कर रही है।


Share
Bulletin