जहर खाने से पहले हेड कांस्टेबल ने एसपी से की थी बातचीत, ऑडियो टेप वायरल

जहर खाने से पहले हेड कांस्टेबल ने एसपी से की थी बातचीत, ऑडियो टेप वायरल

भिंड : जिले के रौन थाने में पदस्थ टीआई की कथित प्रताड़ना की वजह से जहर खाकर जान देने वाले हेड कांस्टेबल और एसपी के बीच बातचीत का ऑडियो सामने आया है। सुसाइड करने के पहले हेड कांस्टेबल रामकुमार शुक्ला ने एसपी अनिल कुशवाह को फोन किया था। एसपी ने तुरंत कोई कार्रवाई करने के बजाए उसे डांटते हुए अगले दिन ऑफिस आने के लिए कहा था। इसके बाद हवलदार ने कहा था कि मैं नहीं मेरी डेड बॉडी ही आपके सामने आएगी।

वहीं, परिजनों ने इस ऑडियो रिकॉर्डिंग के जरिए एसपी पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए उन्हें हटाने की मांग की है। एसपी और हवलदार के बीच हुई बातचीत की जारी ऑडियो टेप में कहा गया है कि टीआई मुझसे जबरन काम करा रहे हैं। मैं 6 हजार रुपए महीने की दवाई खाकर समय काट रहा हूं। एसपी अनिल कुशवाह ने हवलदार की बात मानने के बजाए उसे डांट दिया। एसपी ने कहा कि वह ऑफिस में आकर मिले। हवलदार बोला, मेरी डेड बॉडी सामने आएगी। हवलदार शुक्ला ने यह भी कहा कि आप बड़े अफसर हैं और टीआई की बात ही सुनेंगे। छोटे कर्मचारियों की बात कौन सुनेगा।

क्या है पूरा मामला -

भिंड जिले में थाना प्रभारी (टीआई) की कथित प्रताड़ना के चलते जहर खाने वाले हेड कांस्टेबल रामकुमार शुक्ला की ग्वालियर में इलाज के दौरान मौत हो गई। गृह मंत्री ने मामले की जांच के आदेश दिए है, जबकि एसपी ने आरोपों के घेरे में आए टीआई को लाइन अटैच कर दिया है। रौन थाने में पदस्थ हेड कांस्टेबल रामकुमार शुक्ला का सोमवार सुबह थाना प्रभारी सुरेंद्र गौर से किसी बात पर विवाद हुआ था। विवाद के बाद ही रामकुमार ने पुलिस थाने में ही जहर खा लिया था।

पुलिस थाने में मौजूद स्टाफ रामकुमार को तुरंत जिला अस्पताल लेकर पहुंचा। जहां हालत बिगड़ने पर कुछ ही देर बाद उन्हें ग्वालियर रेफर कर दिया। यहां इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया।

रामकुमार शुक्ला ने अपने मृत्यु पूर्व कथन में कहा है कि थाना प्रभारी सुरेंद्र गौर कुछ दिनों से नाराज चल रहे थे। स्वच्छता अभियान के तहत सोमवार सुबह के समय उन्होंने उनकी उम्र का लिहाज किये बिना ही फांवड़े से गंदी नाली की सफाई करने के लिए कहा। उन्होंने उम्र का हवाला देते हुए जब ये काम करने से मना कर दिया तो कथित तौर पर थाना प्रभारी ने उन्हें अपशब्द कहें और कुल्हाड़ी के डंडे से उनके साथ मारपीट भी की थी।


Share
Bulletin