ढाई साल के मासूम ने खोला मां की मौत का राज

ढाई साल के मासूम ने खोला मां की मौत का राज

नीमच : मनासा के रजनी पुरोहित हत्याकांड में नया मोड़ आ गया है। जहां पुलिस इसे साधारण आत्महत्या मान रही थी, वहीं रजनी के ढाई साल के मासूम ने सारी गुत्थी खोलकर रख दी है। पुलिस व पत्रकारों को दिए बयान में मासूम आरव ने बताया कि पिता चेतन उर्फ चिराग पुरोहित ने उसकी मां रजनी की गला दबाकर हत्या की है।

मासूम उस समय कमरे में ही था। रजनी की जेठानी व पति ने पहले तो रजनी को बहुत पीटा। उसके बाद चेतन ने उसका तब तक गला दबाए रखा, जब तक रजनी की मौत नहीं हो गई। मौत के बाद दिखावे के लिए रजनी की लाश को लेकर प्राइवेट अस्पताल लेकर गए।

चार लोगों पर शक

इस हत्याकांड में रजनी का ससुर, जेठानी, पति व नीमच निवासी पूनम पर शक की सुई घूम रही है। कॉल डिटेल से कई राज खुलेंगे। धनतेरस, छोटी दिवाली व दीपावली के दिन रजनी के ससुर, जेठानी, पति व पूनम ने मोबाइल पर क्या-क्या बाते की? इस रहस्य से भी पर्दा उठ सकता है।

प्रताड़ित करता था पूरा परिवार

पड़ोसियों ने बताया कि रजनी को रोज प्रताड़ित किया जाता था। ससुर, जेठानी व उसका पति चेतन आए दिन रजनी के साथ मारपीट करते रहते थे। दीपावली के दिन भी दोपहर दो बजे रजनी के चीखने चिल्लाने की आवाज आ रही थी।

पति चेतन को पैसे का बहुत घमंड था। नीमच में उसका रिश्तेदार पत्रकार है, उसकी भी वो धौंस दिया करता था। वो रजनी को धमकाता कि पुलिस भी उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकती है।

ये था मामला 

मनासा निवासी रजनी की 19 अक्टूबर को इलाज के दौरान जिला चिकित्सालय में मौत हो जाती है। प्रथम दृष्टया पुलिस के मुताबिक यह सामान्य मौत मानी जाती है, लेकिन रजनी के परिजनों द्वारा जब इस मौत को लेकर रजनी के पति चेतन पर  आरोप लगाया गया, तब इस मामले में पुलिस द्वारा सघन जांच प्रारम्भ की गई।

जिससे पता चलता है कि इस मौत के पीछे बीमारी नहीं, बल्कि ससुराल पक्ष पति, जेठानी और सास, ससुर द्वारा हत्या का हैं। चौंकाने वाली बात तो तब सामने आई जब रजनी के ढाई साल के मासूम आरव ने बताया कि पापा ने ही मम्मी का गला दबाया। अब पुलिस इस मामले में मुकदमा दर्ज करने की तैयारी कर रही हैं।

 

 

 

 

 

 


Share
Bulletin