दोस्त ने पुरानी रंजिश को लेकर शराब पिलाकर उतार दिया मौत के घाट

दोस्त ने पुरानी रंजिश को लेकर शराब पिलाकर उतार दिया मौत के घाट

अनूपपुर : कोतवाली अंतर्गत ग्राम हर्री रेलवे फाटक के पास सोमवार तड़के रेल पटरियों में कई टुकड़ों में छत विछत शव मिलने से सनसनी फैल गई। रेलवे कर्मचारियों और  ग्रामीणों द्वारा कोतवाली में सूचना दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच उपरांत ट्रेन हादसे से मौत होना समझा, लेकिन जैसे ही अनूपपुर पुलिस ने शव की बारीकियों से जांच की, तो गर्दन धारदार औजार से कटा हुआ दिखा।

जानबूझकर शव को रेलवे पटरियों में रखा गया है, यह समझने में पुलिस को समय नहीं लगा। कोतवाली पुलिस ने हर एंगल पर जांच शुरू कर दी। शव की पहचान बर्री निवासी गोपी बैगा नाम से हुई। पुलिस ने मृतक का किसी से रंजिश व अन्य बिंदुओं पर जांच में तेजी की। महज 24 घण्टे के अंदर अंधे हत्या कांड का खुलासा कोतवाली पुलिस ने कर दिया।

आरोपी सोमनाथ राठौर का दो माह पूर्व मृतक गोपी बैगा से आपसी विवाद हुआ था। इसके पूर्व आरोपी और मृतक के बीच गहरी दोस्ती थी। अक्सर एक दूसरे के घर आना जाना किया करते थे, लेकिन एक दिन  आरोपी के किसी महिला परिजन के बीच मृतक के अवैध सम्बन्ध की जानकारी आरोपी सोमनाथ राठौर को लग गई।

जिसको लेकर दोनों के बीच वाद विवाद हुआ था। जिसकी रंजिश रखे आरोपी सोमनाथ ने फिर से दोस्ती आगे बढाने की ठानी और रोज की तरह शराब पीने का क्रम जारी रहा। आरोपी हर रोज मौके की तलाश करता रहा  और आखिरकार वह मौका रविवार की रात मिल ही गया।

दोनों शराब पीने लगे, आरोपी ने जानबूझकर मृतक को रेलवे ट्रैक के करीब 20 मीटर दूर पर ही शराब पीने के लिए बैठाया। आरोपी के पास पहले से ही कुल्हाड़ी थी, शराब पीने के दौरान आरोपी को मृतक कम जाम बनाकर देता रहा और मृतक खुद अधिक जाम बना-बनाकर पीता रहा।

जैसा की आरोपी सोमनाथ राठौर चाहता था कि शराब पी कर यह धुत्त हो जाये तो काम तमाम कर दे। जाम खत्म होने को आया, तब आरोपी ने विवाद करने का बहाना करने लगा कि उसे शराब के कम जाम दे रहे हो और खुद अधिक शराब पी रहे हो। 

जिससे दोनों में फिर विवाद होने लगा और आरोपी के प्लान के अनुसार उसने मृतक के गर्दन में कुल्हाड़ी से जोरदार वार कर दिया। जिससे गर्दन के पीछे से उसका गर्दन कट गया और गोपी बैगा की  मौत हो गई

मृतक को मौत के घाट उतारने के बाद कुछ दूरी पर रेलवे ट्रैक में मृतक के शव को रेल पटरियों में रखकर फरार हो गया जिससे मृतक का शव ट्रेन से कटकर छत विछत हो गया। आरोपी द्वारा हत्या को हादसा बनाने की कोशिश असफल रही।

कोतवाली पुलिस ने घेरा बन्दी कर आरोपी को 24 घण्टे के अंदर धर दबोचा। पुलिस ने अंधे हत्या कांड का खुलासा कर बताया गया कि आपसी रंजिश हत्या की वजह बनी। हालांकि हत्या करने के बाद आरोपी को अब पछतावा हो रहा है।  

 


Share
Bulletin