बालाघाट सांसद भगत से हुए विवाद में बिसेन को मिली क्लीन चिट

बालाघाट सांसद भगत से हुए विवाद में बिसेन को मिली क्लीन चिट

बालाघाट। मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन को भारतीय जनता पार्टी संगठन ने बालाघाट सांसद बोध सिंह भगत से हुए विवाद मामले में क्लीन चिट दे दी है। वहीं भगत ने प्रदेश अध्यक्ष और संगठन महामंत्री से लिखित में माफी मांगते हुए उक्त घटना में खुद की भूमिका पर खेद जताया है। शुक्रवार को राजधानी भोपाल स्थित भाजपा मुख्यालय में संगठन पदाधिकारियों ने भगत से इस मामले में लगभग डेढ़ घंटे तक बंद कमरे में चर्चा की। बता दें कि दोनों नेताओं के बीच बुधवार को सार्वजनिक मंच पर बहस हो गई थी।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बालाघाट सांसद बोध सिंह भगत को संगठन ने भोपाल तलब किया था। शाम को प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार सिंह चौहान, संगठन महामंत्री सुहास भगत और महाकौशल प्रांत के संगठन मंत्री अतुल राय की मौजूदगी में भगत से बंद कमरे में करीब डेढ़ घंटे तक स्पष्टीकरण लिया गया। बैठक में विवाद के दौरान मंच पर मौजूद रहे बालाघाट के जिलाध्यक्ष और बीजेपी महिला मोर्चा की अध्यक्ष लता ऐलकर भी मौजूद थी। संगठन के इन नेताओं से भी अलग—अलग वन टू वन चर्चा कर पूरे विवाद की हकीकत को जाना। सभी पहलुओं की जानकारी लेने के बाद संगठन ने सांसद बोध सिंह भगत को मामले में दोषी माना है। इसके बाद भगत ने पूरे मामले पर लिखित में संगठन के सामने खेद प्रकट किया है।

हालांकि कृषि मंत्री गौरी शंकर बिसेन को बिना स्पष्टीकरण लिए ही क्लीन चिट दे दी गई है। भगत के लिखित में खेद प्रकट किए जाने के बाद प्रदेश अध्यक्ष चौहान ने कहा है कि अब इस मामले को खत्म समझ लिया जाना चाहिए। हालांकि भगत ने इस मामले पर मीडिया के किसी सवाल का जवाब नहीं दिया। संगठन ने भगत को भविष्य में सार्वजनिक मंच पर मर्यादा बनाए रखने की भी हिदायत दी है।


Share
Bulletin