शिक्षा मंत्री की पुर्व विधानसभा का हाल बेहाल, दो वर्ष के बाद भी नियुक्त नही कर पाए शिक्षक

शिक्षा मंत्री की पुर्व विधानसभा का हाल बेहाल, दो वर्ष के बाद भी नियुक्त नही कर पाए शिक्षक

सरकार द्वारा 3 करोड़ की लागत से बनाए गए मॉडल स्कूल पर शिक्षा विभाग के बिगड़े सिस्टम के चलते आज भी ताला लगा हुआ है बागली विधानसभा में स्थित एक मात्र मॉडल स्कूल का  शिक्षा विभाग की लापरवाही के चलते उपदेश पुरा होता नजर नही आ रहा हैं उक्त माडल स्कूल का  लाभ छात्र-छात्राओं को नहीं मिल पा रहा है मॉडल स्कूल  मे एडमिशन के लिए बच्चों की परीक्षा ली जाती हैं परिक्षा होने पर  माडल स्कूल मे एडमिशन दिया जाता हैं।

वही इस स्कूल में जिन बच्चों का चयन हुआ है उन बच्चों को पढ़ाने के लिए शिक्षा विभाग आज 2 वर्ष बीतने के बावजूद भी शिक्षकों की व्यवस्था नहीं कर पाया है वही क्षेत्र के जनप्रतिनिधि भी इस समस्या से भली भांति अवगत हैं लेकिन वह भी सब कुछ जानकर भी अनजान बने हुए बैठे हैं मॉडल स्कूल के बच्चों को मजबूरन बागली मुख्यालय पर स्थित उत्कृष्ट विद्यालय में बैठकर पढ़ाई करना पड़ रही है।

सबसे बड़ा प्रश्न यह है कि जब शासन द्वारा इतना बड़ा मॉडल स्कूल बनाया गया है तो यहां पर आज 2 वर्ष बीतने के बाद भी शिक्षकों की नियुक्ति क्यों नहीं हो पाई है हालांकि विभाग व्दारा माडल स्कूल मे सत्र  2017-18 मे पढाई प्रारंभ भी की गई थी लेकिन शिक्षा विभाग शिक्षकों की नियुक्ति नही कर पाया  था जिसके चलते शिक्षकों की कमी के कारण खुलने के एक माह बाद ही माडल स्कूल पर  ताले लग गए थे।


Share
Bulletin