कलयुगी पुत्र सहित पत्नी को लिया हिरासत में क्रूरता से की माँ की हत्या

कलयुगी पुत्र सहित पत्नी को लिया हिरासत में क्रूरता से की माँ की हत्या

सिलावद थाना क्षेत्र के ग्राम पखालिया में एक कलयुगी पुत्र को पुलिस ने उसकी माँ की हत्या के जुर्म में हिरासत में लिया है साथ ही लाश को ठिकाने लगाने में सहयोग करने पर आरोपी पुत्र की पत्नी को भी हिरासत में लिया है सिलावद पुलिस के अनुसार आरोपी कैलाश पिता खुमसिंह ने 7 जनवरी की रात अपने ही खेत में खुद की माँ सुरली बाई उम्र 50 वर्ष के सिर में लट्ठ से वार कर के उसकी हत्या कर दी थी।

केरोसिन डालकर माँ के लगाई आग

हत्या करने के बाद घर जाकर सो गया दूसरे दिन पत्नी को घटनाक्रम बताया और केरोसिन लेकर वापस पत्नी के साथ खेत आया जंहा उसकी माँ की लाश थी फिर दोनों लाश उठाकर खेत से नाले पार ले गए और केरोसिन डालकर आग लगा दी और करीब 21 दिन बाद थाना सिलावद जाकर माँ की गुमसुदगी दर्ज करवाकर साधारण जीवन जीने लग गया।

माँ के अवशेष पहचानने से किया मना

दो दिन बाद कैलाश थाना सिलावद गया और पुलिस को बताया के उसके खेत मे मानव अवशेष पड़े है जिसमे जबड़ा, खोपड़ी इत्यादि बताये बस पुलिस के लिए ये अवशेष ही सफलता की कुंजी साबित हुआ और पुलिस ने कैलाश से पूछा कही ये तुम्हारी माँ के अवशेष तो नही जिसपर कैलाश में इनकार कर दिया और पुलिस ने अपनी जांच उन्ही अवशेष पर केंद्रित कर उन टुकड़ो को एसएलएफ लैब सागर डीएनए टेस्ट के लिए भेज दिया।

माँ के मानसिक संतुलन खोने से परेशान था बेटा

जब रिपोर्ट में उक्त अवशेष महिला होने की बात सामने आई तो पुलिस ने देर किए बगैर कैलाश को हिरासत में ले लिया और सख्ती से पूछताछ शुरू की जिसपर कैलाश टूट गया और अपना जुर्म कबुल करते हुवे पूरा घटनाक्रम बात दिया कैलाश ने पुलिस को बताया के उसके पिता खुमसिंह का 2 वर्ष पूर्व निधन हो गया था जिसके बाद उसकी माँ मानसिक संतुलन खो बैठी थी और इस कारण वे अक्सर घर से बाहर घूमती रहती थी और जब कैलाश घर आता था तो पत्नी से इसी बात को लेकर विवाद भी हुआ के माँ कहा है तो उसको रोकती क्यो नही लेकिन पत्नी बस एक ही बात बोलती थी के तुम्हारे जाने के बाद माँ भी चली जाती है और कैलाश का ये हर दिन का काम हो गया था घर आने के बाद माँ को ढूंढना है और इसी कारण केलाश अपनी माँ से परेशान हो गया था।

लठ्ठ से किया माँ पर हमला

7 जनवरी को भी जब वो मजदूरी करके घर आया तो उसे पता चला माँ सुबह से लापता है केलाश उसे ढूंढने निकल गया और थक हार के अपने खेत गया जहा उसको उसकी माँ सुरली बाई कोने में बैठे दिखी कैलाश माँ को देखते ही आक्रोस में आ गया ओर उसने अपनी माँ के सिर पर लट्ठ दे मारी जिससे उसकी माँ की मौके पर मौत हो गई थी जिसके बाद उसने पत्नी के साथ मिलकर अपनी माँ को जलाकर मामला खत्म करना चाहा लेकिन सूचना देकर खुद ही हवालात पंहुच गया।

 


Share
Bulletin