नगर पालिका की अजब कार्यप्रणाली कुशाभाऊ ठाकरे कॉम्पलेक्स में कई दुकानदारों पर राजसात का नोटिस जारी

नगर पालिका की अजब कार्यप्रणाली कुशाभाऊ ठाकरे कॉम्पलेक्स में कई दुकानदारों पर राजसात का नोटिस जारी

सचिन राठौड़ - नगर पालिका की अजब प्रणाली कुशाभाऊ ठाकरे कॉम्पलेक्स में दुकानदारों को बकाया राशि का नोटिस थमाकर  दुकान रागसात करने की कही बात 2013 में नीलाम हुई दुकानों का दूकानदार बता रहे है पूरी राशि चुकाने की बात, मिडिया से फोन पर बात करने के बाद भी सीएमओ नही आये अपना मत रखने बड़वानी शहर में नगर पालिका की अजब कार्यप्रणाली देखने को मिली है नगर पालिका ने कुशाभाऊ ठाकरे कॉम्पलेक्स में कई दुकानदारो पर दूकान का बकाया बताकर उन्हें दूकान राजसात करने का नोटिश जारी कर दिया है।

कॉम्पलेक्स में कई दूकानदारों को किया नोटिस जारी

जिस दूकान को 7 लाख में नीलाम की उस दुकानदार द्वारा पूरी राशि जमा करने के बाद भी 3 लाख बकाया निकाल कर उसे राशि जमा न करने की सूरत में दूकान राजसात करने का नोटिश जारी कर दिया है और ये कोई पहली बार या एक दूकान दार के साथ नही किया कॉम्पलेक्स में कई दूकान दारो को इस प्रकार के नोटिश जारी किये है और ऐसा भी नही के दूकान दार इन नोटीशो के चक्कर में नगर पालिका नही गए इस प्रकार के नोटिश पूर्व में भी दुकानदारो को जारी किये जा चुके है और दुकानदार अपना मत अपनी बात जवाबदारो को बता भी चुके है बावजूद उसके इस तरह लेटर जारी बार बार परेशान किये जा रहे है।

जवाबदार नहीं दे रहे कोई जवाब

बता दें की नगर पालिका ने 2013 में कुशाभाऊ ठाकरे कॉम्पलेक्स की दुकाने नीलाम की थी जिसका दुकानदारो के द्वारा भुगतान भी कर दिया गया है बावजूद अब बार बार नगर पालिका दुकानदारो को नोटिश जारी कर उन्हें परेशान कर रही है इस मामले में जब मिडिया ने अध्यक्ष से बात करना चाहि तो उन्होंने खुद का बाहर होना बताया जब की नगर पालिका सीएमओ कुशल सिंह डुडवे से जब बात की तो उन्होंने फोन पर तो बात कर ली लेकिन मिडिया से जब रूबरू बात करने को कहा तो उन्होंने फोन रीशिव करना बन्द कर दिया।

नगर पालिका की कार्यप्रणाली पर खड़े हो रहे सवाल

अब मसला चाहे जो भी हो लेकिन मिडिया से बात न करना कही न कही अपने आप में कई सवाल खड़े करता है वन्ही जब दुकानदार रशिद और देनदारी का लेखा जोखा बता रहे है उससे कई सवाल खड़े हो रहे है बरहाल मामला चाहे जो हो नगर पालिका की कार्यप्रणाली इस तरह की कार्यवाही कर कई प्रश्न चिन्ह जरूर खड़े कर रही है।


Share
Bulletin