1100 छात्र-छात्राओं का भविष्य अंधकार में, एसडीएम विनीत तिवारी को ज्ञापन देकर लगाई गुहार

1100 छात्र-छात्राओं का भविष्य अंधकार में, एसडीएम विनीत तिवारी को ज्ञापन देकर लगाई गुहार

शिवकुमार रघुवंशी - नगर की सरकारी स्कूलों मे उर्दू विषय के शिक्षकों की नियुक्ती ना होने से उर्दू विषय पढ़ने वाले करीब 1100,सौ छात्र छात्राओ का भविष्य अंधकार में लटका हुआ है छात्र-छात्राओं में काफी जादा असंतोष बना हुआ है लेकिन मांग के बावजूद भी प्रशासन उर्दू विषय के शिक्षकों की नियुक्ती करने में नकारा साबित हो रहा हैं। गुरुवार को छात्राओं ने कलेक्टर के नाम एसडीएम को मांग पत्र सौप कर उर्दू विषय के शिक्षको की नियुक्ती किए जाने की मागं की है।

छात्र-छात्राओं की संख्या सैंकड़ों में

दोपहर के समय बड़ी संख्या में छात्र छात्राएं उर्दू विषय के शिक्षकों की व्यवस्था किए जाने की मांग को लेकर तहसील कार्यालय पहुंचे जहां छात्र-छात्राओं ने सिलवानी एसडीएम विनीत तिवारी को कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में मांग कि नगर के सभी सरकारी स्कूलो में उर्दू विषय पढ़ाने के लिए शिक्षको की कोई भी व्यवस्था नही है जबकि उर्दू विषय की पढ़ाई करने वाले छात्र-छात्राओं की संख्या सैंकड़ों में है।

की गई अतिथी शिक्षक की मांग

पूर्व में भी छात्र-छात्राओं द्वारा शिक्षको की मांग को लेकर करीब तीन माह से अनेक आवेदन रायसेन कलेक्टर से लेकर सिलवानी तहसीलदार और एसडीएम को दिए जा चुके है लेकिन प्रशासन द्वारा आज तक कोई कार्यवाही नहीं की गई जिसकी वजह से छात्र-छात्राएं शिक्षा ग्रहण नहीं कर पा रही है छात्र-छात्राओं ने शासन से मांग की है कि स्थाई शिक्षक की नियुक्ती ना होने के दिशा मे अतिथि शिक्षक की नियुक्ती की जावे।

वरिष्ठ कार्यालय भेजा गया ज्ञापन

ताकि उर्दू विषय की पढ़ाई व्यवस्थित रुप से प्रारंभ हो सके मांग पत्र देते समय अनेको की संख्या में छात्र छात्राए उपस्थित रही सिलवानी एसडीएम विनीत तिवारी का कहना है कि छात्र-छात्राओं द्वारा उर्दू शिक्षको की मांग को लेकर जो ज्ञापन सौंपा है उसे वरिष्ठ कार्यालय रायसेन भेज कर कलेक्टर महोदय को अवगत कराएंगे।


Share
Bulletin