मोबाइल चोरी के आरोप ने ले ली मासूम छात्र की जान

मोबाइल चोरी के आरोप ने ले ली मासूम छात्र की जान

सागर। मोबाइल चोरी के इल्जाम को लेकर शिक्षकों के अनुचित दबाव ने बंडा तहसील के बहरोल थाना के मगरधा गांव में एक छात्र की जान ले ली।

बहरोल थाना प्रभारी रवि उपाध्याय ने बताया कि छात्र के परिजनों का अरोप है कि एक शिक्षिका का मोबाईल चोरी होना ही उनके नाबालिग बच्चे की मौत का कारण बन गया। स्कूल के पूरे 
स्टॉफ ने छात्र पर इतना दवाव डाला कि मासूम अजय लोधी को आखिर मौत को गले लगाना पड़ा ।

बंडा अनुविभागीय के बहरोल थाना अंतर्गत ग्राम मगरधा के वीरेन्द्र लोधी ने आरोप लगाया है कि शिक्षकों द्वारा मेरे पुत्र अजय पर एक मोबाइल चोरी का इतना दवाव बनाया गया कि उसे अपनी और अपने माता पिता की बदनामी का डर समा गया तथा उसने इसी तनाव में आत्महत्या कर ली।

मृतक के चाचा देवेंद्र लोधी का कहना है कि मैने जब अजय से कहा कि बेटे तुमने ये क्या किया तो, अजय वोला की चाचा मेने मोबाइल चोरी नही किया। ये मोबाइल उसके किसी साथी ने उठाया और उसे दे दिया मृतक अजय ने ये बात चिट्टी में भी लिखकर छोड़ी है, जिसमे उसने लिखा है कि में निर्दोष हूँ, ये मोबाइल मेरे साथी ने चुराया था। जब मृतक अजय को पता पड़ा कि स्कूल टीचर मंदाकनी ठाकुर का मोबाइल चोरी हुआ है, तो वो उस मोबाइल को लेकर टीचर के पास गया और उसने टीचर को बताया कि मुझे ये मोबाइल मेरे साथी ने दिया है और जब मुझे पता चला कि आपका मोबाइल चोरी हुआ है तो में इसे लेकर आपके पास आ गया।

लेकिन टीचर मंदाकनी ने उस मासूम बच्चे से कहा कि तुमने गलतीं की है तो तुम्हे सजा मिलेगी, मैने मोबाइल चोरी की रिपोर्ट लिखाई है और अब तुम्हे पुलिस सजा देगी।

मृतक का पिता वीरेंद्र लोधी भी शिक्षिका मंदाकनी के यहां गया, पर टीचर मंदाकनी ने उसकी एक न सुनी। वीरेन्द्र का तो ये तक कहना है कि मोबाइल चोरी की सजा स्कूल परिसर में शिक्षकों ने मृतक अजय को दौड़ा दौड़ा कर मारपीट की है।

थाना प्रभारी उपाध्याय ने कहा कि पुलिस ने प्रकरण कायम कर जांव में लिया है।


Share
Bulletin