आज नरेन्द्र मोदी विश्व का एजेण्डा तय करते हैं : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज

आज नरेन्द्र मोदी विश्व का एजेण्डा तय करते हैं : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज

वरूण शर्मा : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज सतना के टाउन हाल में भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ परिचर्चा करने पहुंची। मध्यप्रदेश के सतना में केन्द्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि विदेशमंत्री के नाते वो साक्षी हैं कि आज नरेन्द्र मोदी विश्व का एजेण्डा तय करते हैं। 

मोदीजी की गणना विश्व के अग्रणी नेताओं में
अंतरराष्ट्रीय योग दिवस उसका जीता जागता उदाहरण है। श्रीमती स्वराज ने कहा कि जो गौरव और प्रतिष्ठा उन्होंने विश्व में भारत की बढ़ाई है उससे मोदीजी की गणना विश्व के अग्रणी नेताओं में की जाती है। सितम्बर 2014 में मोदीजी पहली बार संयुक्त राष्ट्र की सभा को भारत के प्रधानमंत्री के रूप में संबोधित कर रहे थे। उस मंच से उन्होंने केवल इच्छा प्रकट की थी कि 21 जून का दिन पृथ्वी का सबसे बड़ा दिन होता है। उसे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में घोषित किया जाना चाहिए। विदेश मंत्री यहां टाउन हॉल में आयोजित प्रबुद्ध वर्ग के एक परिचर्चा में बोल रही थीं। उन्होंने कहा कि विदेश मंत्रालय ने इस संबंध में एक प्रस्ताव दिया। 

भारत के योग का डंका पूरी दुनिया में गूंज रहा
बता दें कि संयुक्त राष्ट्र के 193 देश सदस्य हैं, जिसमें 177 देश सहप्रायोजक बने और बकाया 16 देशों ने विरोध नहीं किया। मात्र 75 दिन के अंदर संयुक्त राष्ट्र से यह प्रस्ताव निर्विरोध पास हो गया जो कि रिकॉर्ड है। उसी का परिणाम है कि आज 21 जून को पूरे विश्व में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है। श्रीमती स्वराज ने कहा कि भारत के योग का डंका पूरी दुनिया में गूंज रहा है। वो राजनीति के साथ-साथ भारतीय दर्शन का पाठ पढ़ाते हैं। परिचर्चा के दरमियान भाजपा प्रत्याशी गणेश सिंह की आंखे उस वक्त भर आईं जब वो विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की सेहत को लेकर भाषण दे रहे थे।

विदेश मंत्रालय के माध्यम से सुषमा स्वराज ने बनाई पहचान
उन्होंने कहा कि सुषमा स्वराज ने आज दुनिया में विदेश मंत्रालय के माध्यम से अलग पहचान बनाई है। सतना में ऐसे कई मामले हुए जब मैंने उन्हें याद किया। बगैर पासपोर्ट-वीजा विदेश में रहने वाले सतना जिले के कई अप्रवासियों को अपने वतन लौटने में उन्होंने मदद की। एक शव भी दुबई से हिन्दुस्तान लाया गया। श्री सिंह यह कहते समय भावुक हो गए कि जब श्रीमती स्वराज का स्वास्थ्य खराब हुआ तो पूरा देश स्तब्ध रह गया। आप दीर्घायु हों। करोड़ों लोग देश की तरफ देख रहे थे कि कब सूचना आए चिकित्सकों की, कि आप पूरी तरह से स्वस्थ हैं। लोग दुआएं मांग रहे थे ईश्वर से। गणेश सिंह ने कहा कि आप मेरे चुनाव प्रचार में आईं मेरे पास शब्द नहीं हैं कैसे स्वागत करूं?


Share
Bulletin