धोनी का आईपीएल के इतिहास में सर्वश्रेष्ठ स्कोर, फिर भी नही मिली चेन्नई को जीत

धोनी का आईपीएल के इतिहास में सर्वश्रेष्ठ स्कोर, फिर भी नही मिली चेन्नई को जीत

कप्तान महेंद्र सिह धोनी की आईपीएल की नाबाद 79 रन की सर्वश्रेष्ठ पारी के बावजूद उनकी टीम चेन्नई सुपर किंग्स को किंग्स इलेवन पंजाब के हाथों रविवार रात को आईपीएल 11 के मुकाबले में मात्र चार रन से हार का सामना करना पड़ा। पंजाब ने सात विकेट पर 197 रन बनाये जबकि चेन्नई कप्तान धोनी के नाबाद 79 रन के बावजूद पांच विकेट पर 193 रन बना सकी।

धोनी ने 44 गेंदों पर नाबाद 79 रन में छह चौके और पांच छक्के लगाए। धोनी का आईपीएल के इतिहास में यह सर्वश्रेष्ठ स्कोर है। चेन्नई ने 19 वैन ओवर में 19 रन ठोके और उसे आखिरी ओवर में जीत के लिए 17 रन चाहिए थे लेकिन मोहित शर्मा ने धोनी को लक्ष्य से पहले थाम लिया। धोनी ने आखिरी गेंद पर छक्का मारा लेकिन तब तक बाजी हाथ से निकल चुकी थी। अम्बाती रायुडू ने 49 और रवींद्र जडेजा ने 19 रन बनाये।

इससे पहले पहली बार आईपीएल 11 में खेलने उतरे कैरेबियाई धुरंधर क्रिस गेल ने मैदान पर उतर कर विस्फोटक अर्धशतक ठोकते हुए दिखाया कि नीलामी में तीसरे दौर में पंजाब ने उन्हें खरीद कर कितना सही काम किया था। बेंगलुरु टीम ने गेल को रिटेन नहीं किया और नीलामी में पहले दो राउंड में उन्हें किसी ने नहीं खरीदा। आखिर पंजाब ने उन्हें तीसरे राउंड में उनके दो करोड़ रुपए के आधार मूल्य पर खरीदा।

पंजाब ने पहले दो मैचों में गेल को नहीं खेलाया लेकिन तीसरे मैच में मौका मिलते ही गेल ने खुद को साबित कर दिया। गेल ने मात्र 33 गेंदों पर सात चौके और चार छक्के उड़ाते हुए 63 रन ठोक डाले। गेल ने लोकेश राहुल के साथ पहले विकेट के लिए आठ ओवर में 96 रन की जोरदार साझेदारी की। राहुल ने 22 गेंदों पर 37 रन में सात चौके लगाए।

गेल टीम के 127 के स्कोर पर आउट हुए। मयंक अग्रवाल 19 गेंदों पर एक चौके और दो छक्के की मदद से 30 और युवराज सिह 13 गेंदों में दो चौके और एक छक्के के सहारे 20 रन बनाकर आउट हुए। करुण नायर ने 17 गेंदों पर दो चौके और एक छक्के की मदद से 29 तथा कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने 14 रन बनाकर पंजाब को 197 रन तक पहुंचा दिया। चेन्नई की तरफ से शार्दुल ठाकुर और इमरान ठाकुर ने दो-दो विकेट लिए।


Share
Bulletin