राजधानी में प्रेग्नेंट महिला की डिलीवरी के बाद मौत, परिजनों ने किया हंगामा

राजधानी में प्रेग्नेंट महिला की डिलीवरी के बाद मौत, परिजनों ने किया हंगामा

हेमंत शर्मा : राजधानी में एक प्रेग्नेंट महिला की डिलीवरी के बाद इलाज के दौरान मौत हो गई है जिससे नाराज परिजनो ने अस्पताल परिसर में जमकर हंगामा कर किया है, दरअसल मामला राजेन्द्र नगर अमलीडीह स्थित मेडिशाइन हॉस्पिटल का है जहां इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई है जबकि मृतका की साई बाबा नर्सिंग होम में  नार्मल डिलीवरी हुई बाद में महिला को मेडिशाइन हॉस्पिटल भर्ती कराया गया था। 

अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज 
मौत के बाद परिजन इस मामले में राजेंद्र नगर थाने में अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज भी कराई है साथ ही साई बाबा नर्सिंग होम और मेडिसाइन अस्पताल पर मिलीभगत का आरोप भी लगाया है जानकारी के मुताबिक नवविवाहित 24 वर्षीय मृतक महिला का नाम स्नेहा पंजवानी है। गुरुवार को महिला की प्रशव पीड़ा बड़ गया, तो परिजन उसे राजेन्द्र नगर स्थित साई बाबा नर्सिंग होम में लेकर पहुंचे जहां इलाज के दौरान महिला की नार्मल डिलीवरी हुई जिसके बाद परिजन महिला को दूसरे जगह शिफ्ट करना चाहते थे। लेकिन अस्पताल की लेटलतीफी के चलते महिला को दूसरे जगह शिफ्ट करने में देरी हो रही थी जिस पर साई बाबा नर्सिंग होम प्रबंधन ने परिजनों को मेडिसाइन अस्पताल में भर्ती करवाने की बात कही और महिला को मेडिसाइन में भर्ती करवा दिया।भर्ती होने के बाद महिला की तबियत बिगड़ने लग गई फिर आज सुबह महिला की इलाज के दौरान मौत हो गई है।

मृतक के परिजनों के मुताबिक
मृतक के परिजनों का कहना है कि महिला को गुरुवार को 6.30 बजे साई बाबा अस्पताल में नॉर्मल डिलीवरी हुई, उसके कुछ देर बाद तबियत बिगड़ने लगी। उसे परिजन दूसरे अस्पताल में जाना चाहते थे, लेकिन अस्पताल प्रबंधन लेटलतीफी करने लगा। साई बाबा अस्पताल ने खुद ही मेडिसाइन अस्पताल में महिला को भर्ती करवाया। जहां रात में महिला का इलाज चल रहा था फिर डॉक्टर ने कहा कि माइंड में सूजन आ गया है। जिसकी वजह से 3.30 में महिला की मौत हो गई है।

डिलीवरी के बाद मां और बच्चे को नहीं मिलाया 
उनका कहना है कि डिलीवरी के बाद मां और बच्चे से मिलने नही दिया गया, जबकि डिलीवरी के बाद परिजनों से मिलने दिया जाता है इसके अलावा परिजन का कहना है कि इलाज में भी लापरवाही बरती गई है। साथ ही साई बाबा नर्सिंग होम और मेडिसाइन अस्पताल मिलीभगत का आरोप लगाया है। महिला की पहले मौत हो चुकी थी, लेकिन डॉक्टरों ने बाद में मौत की पुष्टि की है।

माइंड में सूजन आने की वजह से मौत
इनका कहना है कि इस मामले की जांच होनी चाहिए, महिला की पहले ही मौत हो चुकी थी मेडिसाइन अस्पताल ने डेडबॉडी का इलाज किया है बता दें कि महिला की पिछले साल नवंबर में शादी हुई थी वहीं इस मामले में मेडिसाइन अस्पताल के डॉक्टर योगेंद्र मल्होत्रा ने सफाई देते हुए कहा कि डिलीवरी के बाद महिला की हालत बिगड़ गई थी। काफी देर इलाज किया गया। उनका कहना है कि वो खुद महिला को मेडिसाइन में भर्ती करवाया. उसके बाद उसका इलाज अच्छे से किया गया है। महिला की हार्ट औऱ लंग काम कर रहे थे, लेकिन माइंड में सूजन आने की वजह से उसकी मौत हुई है।

डॉक्टरों का क्या है कहना 
डॉक्टर का कहना है कि महिला का पोस्टमार्टम करा लिया जाए, इससे महिला की मौत का असल वजह सामने आ जाएगा। हमारी तरफ से कोई लापरवाही नहीं बरती गई है। महिला की पोस्टमार्टम कराने और रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का असल वजह सामने आ पाएगा। फिलहाल राजेंद्र नगर पुलिस ने इस मामले की जांच कर रही है। जिसके बाद दोषी पाए जाने पर डॉक्टरों पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। बता दें कि इससे पहले भी इन अस्पतालों के कारनामे सामने आ गए है। इस मामले में भी मेडिसाइन की गलती सामने आ रही है.क्योकि बार बार वो बयान बदल रहे थे।
 


Share
Bulletin