लाखों रुपए का मुआवजा़ घोटाला, मामला अटका जांच में

लाखों रुपए का मुआवजा़ घोटाला, मामला अटका जांच में

सतना। जिले के बाड़सागर की अंधियारी सागर बांध में लाखों रुपये का मुआवजा घोटाला सामने आया है ,अदिवासी किसानों की जमीन का मुआवजा भूअर्जन शाखा में पदस्थ लिपिक ने जालशाजी कर हजम कर लिया । कर्मचारी और दलाल की गठजोड़ ने फर्जी नॉमिनी बना कर कुछ लोगों की पूरी की पूरी राशि हजम कर दी तो कुछ की आधी ।मामले की शिकायत जिला और पुलिस प्रशासन से की गई जिसेक बाद जांच में आरोप प्रमाणित पाए गए। इसके बाद भी न तो किसानों को मुआवजा राशि लौटाई गई और न ही आरोपी पर अब तक कोई कार्यबाही हुई ।मामला जांच पर जांच में लटका हुया है, और पीड़ित परिवार अपने हक के लिए भटक रहा है।

जानकारी अनुसार सतना जिले के तीन अदिवासी परिवारों के साथ जालशाजी कर उनकी जमीन के मुआवजे की राशि हड़प ली गई ।जोवा गांव निवासी मलौया ,नंद किशोर और कामता आदिवासी की पूरी पुस्तैनी जमीन बाड़सागर की अंधियारी सागर डैम में जलमग्न हो गई । इन परिवारों को बतौर मुअावजा सरकार ने राशी घोषित की पर इन परिवारों को राशि नहीं मिल पाई ।

बैंक में फर्जी नॉमिनी कराए दर्ज...

फरवरी 2016 में स्वीकृत राशी को भूअर्जन शाखा के मुख्य ने बड़े ही शातिराना तरीके से हजम कर ली ।फर्जी तरीके से पहले बैंक में फर्जी नॉमिनी का नाम दर्ज कराया, और अनपढ़ अदिवासियों की राशि बैंक से हजम कर ली ।एक दो लाख नहीं बल्कि लगभग 24 लाख का घोटाला हुया ।पीड़ित परिबार शिकवा शिकायत कर भटक रहा है मगर आरोपी आजाद घूम रहे हैं,और आरोपी लिपिक ठाट से नौकरी कर रहा है। हालांकि कथित आरोपी लिपिक अपने आप को निर्दोष बता रहा है,जबकि जिला प्रशासन की जांच में दोष सिद्ध हुआ है। जिले के प्रभारी मंत्री इसकी जांच कराने की बात कह रहे हैं।


Share
Bulletin