कर्ज के चलते किसान ने ट्रेन से कटकर की आत्महत्या

कर्ज के चलते किसान ने ट्रेन से कटकर की आत्महत्या

सरकार भले ही खेती को लाभ का धंधा बनाने व किसानों की कर्ज माफी की बात करते न थक रही हो साथ ही आए दिन किसानों के लिए घोषणा कर रही हो पर प्रदेश में किसानों की मौत का सिलसिला नहीं रुक रहा है इसी क्रम में मुंगावली रेलवे स्टेशन से कुछ ही दूरी पर रेलवे गेट क्रमांक 17 पर युवा किसान ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली। देखा जाए तो चंद्रभान सिंह लोधी पिपरिया मल्हारगढ गांव का रहने वाला था जिसके 2 बच्चे हैं और चौदह बीघा के आसपास जमीन हैं उसने अपने सुसाइड़ नोट में लिखा है कि उसके पास लाखों के कर्ज है और आए दिन वह कर्ज से परेशान है उसके पिता की मौत भी कर्ज की परेशानी के चलते पिछले साल ही हुई थी।
 
इस किसान ने मरने के पहले जो पत्र लिखा है उसमें सरकार से कर्ज माफ करने की बात कही है और कहा है कि वह कर्ज से परेशान है और एचडीएफसी बैंक में उसकी जमीन रखी है। और जो 7 लाख रुपये मिले हैं उसमें से मुझको चाचा ने एक भी पैसा नही दिया है। जिससे में किसी की बातें नही सुन सकता हूँ। इसके अलावा इसने नेत्र दान करने की बात भी इस पत्र में लिखी है। फिलहाल पुलिस ने मर्ग कायम करके मामले को जांच में लिया है। 

देखा जाए तो चंद्रभान अपने परिवार में अकेला ही कमाने वाला व्यक्ति था क्योंकि उसके पिता की मौत पहले ही हो गई थी जिस कारण परिवार के संचालन की जिम्मेदारी इसके ही कंधों पर थी अब जब इसने आर्थिक तंगी से परेशान आकर आत्महत्या कर ली है तो अब इसके परिवार पर आर्थिक संकट के साथ पारिवारिक संकट भी खड़ा हो गया है।


Share
Bulletin