किसान की बेटी ने जीता गोल्ड, आदिवासी जिला डिंडौरी का नाम किया गौरवान्वित

किसान की बेटी ने जीता गोल्ड, आदिवासी जिला डिंडौरी का नाम किया गौरवान्वित

शिवराम बर्मन - आदिवासी जिला डिंडौरी में अत्याधुनिक संसाधनों के आभाव के बावजूद यहाँ की होनहार खिलाड़ियों ने पहले की तरह इस बार भी गोल्ड जीत कर राज्य स्तर पर आदिवासी जिले का नाम गौरवान्वित किया है डिंडौरी जिले के छोटे से गाँव करंजिया क्षेत्र की रहने वाली धनेश्वरी परस्ते ने ग्वालियर में आयोजित राज्य स्तरिय एथेलेटिक प्रतियोगिता में 400 मीटर की दौड़ में भाग लेकर पहला स्थान हासिल कर गोल्ड जीता है।

धनेश्वरी के गोल्ड जीत कर डिंडौरी वापस आने पर स्थानीय लोगो ने स्वागत कर उसे बधाई दी है। आपको बता दें की करंजिया उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में कक्षा 11 में पढ़ने वाली धनेश्वरी परस्ते  जो एक किसान की बेटी है ने जिला स्तरिय प्रतियोगिता में भाग लिया और 400 मीटर में दौड़ में पहला स्थान पा कर संभाग में चयनित हुई। संभाग प्रतियोगिता में मंडला जिले के कालपी में भाग लेने गई धनेश्वरी ने वहाँ भी 400 मीटर दौड़ में पहला स्थान प्राप्त किया।

फिर संभाग के बाद ट्राइबल स्टेट अलीराजपुर में 400 मीटर में जीत हासिल कर धनेश्वरी राज्य खेलने ग्वालियर पहुँची। ग्वालियर में 21 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक आयोजित हुए एथेलेटिक प्रतियोगिता में भाग लेकर धनेश्वरी ने 400 मीटर दौड़ में पहला स्थान  हासिल कर गोल्ड जीता। धनेश्वरी आगे जाकर पुलिस अधिकारी बनना चाहती है। 

 


Share
Bulletin