जिले के आदिवासी युवकों ने अंतर्राष्ट्रीय खेल में जीते गोल्ड मेडल

जिले के आदिवासी युवकों ने अंतर्राष्ट्रीय खेल में जीते गोल्ड मेडल

राज बिसेन - इस स्पर्धा में नेपाल, भुटान, बांग्लादेश और भारत के खिलाड़ियों ने भाग लिया था जिसमें  युवा आदिवासी विनय इडपाचे, सुंदरम धुर्वे एवं भावना गौतम ने गुल्ली डण्डा (टिप कैट) में भारत देश को गोल्ड मेडल दिलाकर देश और आदिवासी समाज का नाम रौशन किया है गिल्ली डंडा स्पर्धा में भारत की ओर से खेलते हुए टीम ने नेपाल भूटान और बंगलादेश को मात देकर चमचमाती ट्रॉफी के साथ गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया आदिवासी ग्रामीण अंचल में रहने वाले इन जांबाज युवाओं की इस सफलता के बाद सम्पूर्ण प्रदेश, जिला व क्षेत्र के लोगो में खुशी की लहर है। 

बस स्टैंड से रैली का आयोजन

भारत के लिये गोल्ड मैडल जितने वाले युवाओ के स्वागत के लिए क्षेत्रिय युवाओं द्वारा  मुख्यालय परसवाङा के बस स्टैंड से रैली का आयोजन किया गया तथा युवाओं के स्वागत के लिए जगह जगह पर आतिशबाजी की गई एवं फूल माला से स्वागत किया गया इस दौरान उपस्थित स्थानीय जनप्रतिनिधिओ ने द्वारा युवाओ का पुष्पमालाओं से जोरदार  स्वागत किया आदिवासी धुनों पर थिरकते युवाओं का उत्साह देखते ही बनता था।

कोच को दिया जीत का श्रेय

जनपद अध्यक्ष सुशीला सरोते ने कहा कि एक छोटे से गांव के युवा ने हमारे पारम्परिक खेल गिल्ली डंडा (टीप कैट) में इंटरनेशनल प्रतियोगिता जीती है जो हर्ष का विषय है। विजयी प्रतियोगी विनय इडपाचे ने अपनी जीत का श्रेय अपने कोच को दिया विजयी प्रतियोगी भावना गौतम ने कहा कि गिल्ली डंडा हमारा प्राचीन खेल है जिसमें जिला स्तर से शुरू होकर राष्ट्रीय स्तर पर जीतकर हम तीन लोगों का चयन हुआ था यहां सफलता हासिल कर नेपाल के काठमांडू में आयोजित इंटरनेशनल प्रतियोगिता में भी गोल्ड मेडल जीता है।

 


Share
Bulletin