अज्ञात आरोपियों ने जघन्य हत्या को दिया अंजाम, गांव में फैली सनसनी

अज्ञात आरोपियों ने जघन्य हत्या को दिया अंजाम, गांव में फैली सनसनी

आज सुबह बखतगढ़ से डेढ़ किमी दूर बदनावर रोड़ पर सड़क किनारे गांव के ही गोपाल पिता गणपतलाल पटेल (उम्र 42) का शव मिलने से सनसनी फैल गई। बता दें गणपतलाल पटेल की रात में पत्थरों से कुचलकर जघन्य हत्या की गई थी। 

जानकारी के अनुसार सुबह जब गांव के लोग घूमने के लिए आए तो उन्हें मोटर साइकल व शव दिखाई दिया। लोगों ने तुरंत पहचानकर घरवालों को सूचना दी। परिजनों ने मौके पर आकर देखा और पुलिस को खबर की। मौके पर शव की स्थिति देखकर पता चला कि अज्ञात बदमाशों ने पत्थरों से सिर, मुंह व हाथ कुचलकर हत्या की तथा उनका मोबाइल लेकर फरार हो गए।

मृतक की जेब में करीब 25 हजार रुपए थे, जो सुरक्षित मिल गए। उन्हें रात में करीब 10 बजे होटल पर देखा गया था। उसके बाद ही वे घटनास्थल से कुछ दूर स्थित खेत पर जाने के लिए निकले थे तभी मौका पाकर बदमाशों ने उनकी हत्या कर दी। मौके पर बड़ी संख्या में जमा गांववालों ने बताया कि सड़क की एक साइड में हत्या कर उन्हें दूसरी साइड में पटक दिया और मुंह पर वजनी पत्थर भी रख दिया। सुबह तक घर पर नहीं आने के कारण परिजन चिंतित थे और इधर उधर फोन लगाकर तलाश कर रहे थे तभी उन्हें सूचना मिली। 

पता चलते ही एसडीओपी कैलाश मालवीय, टीआई केएस गेहलोत, एसआई शरद पाटील व बीके कनौजिया तथा अन्य पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे। धार से एफएसएल अधिकारी पिंकी मेहरडे ने मौके पर पहुंचकर परीक्षण किया व खून आलूदा मिट्टी के नमूने लिए। पुलिस ने उनकी मोटरसाइकल नं. एमपी 11 एमके 2696 जब्त कर शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल पहुंचाया। जहां शव परीक्षण के बाद परिजनों के सुपुर्द किया। जघन्य हत्याकांड से गांव में सनसनी फैल गई तथा लोगों ने आक्रोश भी जताया।
 


Share
Bulletin