पुलिस की गिरफ्त में सपनों का सौदागर

पुलिस की गिरफ्त में सपनों का सौदागर

धमतरी : अधिक मुनाफे का झांसा देकर लोगों से दो कंपनी के द्वारा करीब 75 लाख रुपए की ठगी करने का मामला सामने आया हैं। ये मामला धमतरी के अर्जुनी थाना का हैं। जहां पुलिस ने दो चिटफंड कंपनी के संचालक को रायपुर से गिरफ्तार कर लिया हैं। वहीं इस मामले से जुड़े अन्य दो प्रमुख सहयोगियों की तलाश जारी हैं।

दरअसल जिले में भृगुवंशी ब्रोकर्स जयपुर राजस्थान और थ्री टाइम इंफोटेक के नाम के चिटफंड कंपनी 2015 से क्षेत्र में सक्रिय होकर लोगों को शिकार बना रहे थे। पुलिस के मुताबिक राजस्थान के आमेर जयपुर निवासी भवानी शंकर भृगुवंशी गांव के संपन्न लोगों व छोटे कारोबारियों को अपना शिकार बनाता था और लुभावने स्कीम देता था।

कहता था कि हर सप्ताह 300 रुपए के हिसाब से 38 माह तक जमा करना होगा, इसके बाद 30 हजार जमा करने पर प्रति सप्ताह 750 रुपए 36 माह तक और 50 हजार जमा करने पर 1500 रुपए हर सप्ताह 25 माह तक मिलने की स्कीम बताते थे।

लोग इनके झांसे में आकर कंपनी के खाते में पैसा जमा कर रहे थे, लेकिन जब कंपनी के पैसे देने की बारी आई, तो कपनी के संचालक ने अपने कंपनी को शासन के द्वारा सील हो जाने की बात जमाकर्ताओं से कहा।

वहीं इसी कंपनी ने फिर एक नये नाम थ्री टाइम इंफोटेक कंपनी बनाया और उन्हीं लोगों को ज्यादा रकम जमा करने पर पूर्व से ज्यादा कमीशन के साथ रकम मिलने की बात कही। जिसके बाद निवेशक कंपनी के बहकावे में आकर फिर से नए बैंक खाते में रकम जमा करने लगे और जब मियाद पूरी हो जाने के बाद लोगों ने कंपनी से रकम देने की बात कही। 

तो कंपनी के संचलाक ने पैसे देने में आनाकानी कर रहे थे। जिससे तंग आकर पीड़ित लोगों ने इसकी शिकायत थाने में दर्ज करवाई। इस मामले की जांच साइबर सेल पुलिस कर रही थी। जिसे मुखबिर से सूचना मिली की इस कंपनी के संचालक रायपुर में ठहरे हुए हैं।

जिसके बाद पुलिस ने दबिश देकर कंपनी के संचलाक भवानी शंकर को गिरफ्तार किया। बहरहाल पुलिस आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई में जुट गई हैं। पुलिस की माने तो भृगुवंशी ब्रोकर्स के नाम से भी 50 लाख से ज्यादा की ठगी की गई हैं।

 


Share
Bulletin