महासमुंदः पट्टा देकर जमीन का मालिकाना हक देने के एवज में ग्रामीणों को मिली लाखों रुपए की नोटिस

महासमुंदः पट्टा देकर जमीन का मालिकाना हक देने के एवज में ग्रामीणों को मिली लाखों रुपए की नोटिस

राजस्व विभाग द्वारा आयोजित राजीव गांधी आश्रय योजना के तहत गुरुघासीदास वार्ड नं.22 में शिविर का आयोजन किया गया। राजस्व विभाग की प्राथमिकता वाली योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए विशेष कैंप में 40 परिवारों को नोटिस जारी किया गया है। इस शिविर में नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्राकर शामिल हुए। इस दौरान वार्ड के गरीब परिवारों ने राज्य सरकार द्वारा पट्टा देकर जमीन का मालिकाना हक देने के एवज में लाखों रुपए की नोटिस थमाए जाने को लेकर आक्रोश जताया है। सुभाष नगर के गरीब महिलाओं ने पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्राकर से राज्य सरकार की इस योजना का विरोध दर्ज कराते हुए कहा कि पट्टा देने के नाम पर गरीबों की जमीन का नापजोख किया गया लेकिन बाद में सभी नोटिस थमा दिया। महिलाओं ने एक स्वर में कहा कि हम गरीब मजदूर वर्ग से हैं। रोज कमाते हैं और खाते हैं। ऐसे में इतनी बड़ी रकम कहा से लाएंगे। इस दौरान अध्यक्ष चंद्राकर ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा गरीबों को पट्टा देने के नाम पर छल किया है। चंद्राकर ने शिविर में मौजूद नायब तहसीलदार देवेन्द्र नेताम से चर्चा की। तहसीलदार ने बताया कि जो परिवार जमीन की कीमत नहीं दे सकते मालिकाना हक नहीं मिल सकता। उक्त परिवार को लीज पर पट्टा दिया जाएगा, लेकिन मालिकाना हक नहीं।

ग्रामीणों ने पालिका अध्यक्ष चंद्राकर से मिलकर अपनी समस्या बताई

चंद्राकर ने कहा कि बुंदो जगत को 5755 वर्ग फीट जमीन का पट्टा देने के नाम पर 19 लाख 24 हजार 472 रूपये का राजस्व विभाग द्वारा नोटिस भेजा गया है। गरीब परिवार कहा इतनी बड़ी रकम कहा से दे पाएंगे। इसी प्रकार मीराबाई को 1320 वर्ग फीट का 4 लाख 41 हजार 408, वंदना 1397 वर्ग फीट का 4 लाख 65 हजार 485 रुपए, दिलीप पटेल 1426 वर्ग फीट का 4 लाख 76 हजार 854 रुपए का राजस्व विभाग ने नोटिस दिया है। इस दौरान वार्ड के 15 वर्षीय दृष्टिवाधित यश कुमार साहू ने पालिका अध्यक्ष चंद्राकर से मिलकर अपनी समस्या बताई। यश ने बताया कि पीछले 5-6 वर्षों से उसे 1 हजार रुपये पेंशन दिया जाता था लेकिन जनवरी 2019 से सिर्फ 5 सौ रुपये पेंशन दिया जा रहा है। इस पर पालिका अध्यक्ष चंद्राकर पेंशन प्रभारी से चर्चा की, और समस्या का निराकरण करने के निर्देश दिए। वहीं वार्ड 22 के निवासी 10 वर्षीय गौरी पिता संजय उईके एक कान से सुन नहीं पाती है। स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक से पूछने पर उन्होंने श्रवणयंत्र लगाने से सुनाई देने की बात कही है। इस मौके पर पार्षद हेमलता संतोष यादव,संदीप घोष,पवन पटेल,गोलू मदनकार,पूर्व पार्षद विनोद रात्रे, चित्ररेखा, सुनिता शुक्ला, सावित्री गांडा, कस्तूरी सोनवानी, चैती बाई, मीना बाई, नर्मदा, ललित टंडन, प्रेमशिला यादव, ईश्वर प्रसाद, इंदिरा सोनी, चंपाबाई, स्वातीबाई, उमाबाई साहू सहित पालिका के देवकुमार निर्मलकर, दिलीप चंद्राकर उपस्थित थे।


Share
Bulletin