तहसीलदार राकेश ध्रुव अपने दो पटवारियों सहित घुसे स्ट्रांग रूम में, कांग्रेसियों ने जताई आपत्ति

तहसीलदार राकेश ध्रुव अपने दो पटवारियों सहित घुसे स्ट्रांग रूम में, कांग्रेसियों ने जताई आपत्ति

रामेश्वर मरकाम : मंगलवार को धमतरी में स्ट्रांग रूम में उस समय माहौल गर्मा गया जब बाहर बैठे पार्टी प्रत्याशियों के कार्यकताओ को बिना किसी को सूचना दिए तहसीलदार राकेश ध्रुव अपने दो पटवारियों सहित दो इलेक्ट्रिशियन स्ट्रांग रूम के अंदर घुस गए। 11 बजे वे स्ट्रांग रूम में घुसे थे और उनके साथ दो इलेक्ट्रिशियन भी थे लगातार 3 घंटे तक यह सभी अंदर रहे जबकि बार बार उनकी मौजूदगी को लेकर स्ट्रांग रूम के बाहर बैठे कांग्रेस और निर्दलीय प्रत्याशियों के समर्थकों का आपत्ति करते रहे। बावजूद उन्हें विश्वास में लिए बगैर 3 घंटे तक तहसीलदार अंदर में ही डटे रहे।

इधर खबर पाकर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष मोहन लालवानी जिला निर्वाचन अधिकारी सी आर प्रसन्ना और एसपी रजनेश सिंह समेत अन्य अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। विवाद बढ़ता देख उप जिला निर्वाचन अधिकारी सुनील शर्मा ने मौके पर पहुंचकर बताया कि कलेक्टर के निर्देश के बाद यहां सीसीटीवी कैमरा लगाया जा रहा है जिसके लिए वायरिंग का काम किया जा रहा है और इसके लिए स्ट्रांग रूम के परिसर परिसर में जाने के लिए तहसीलदार समेत दो इलेक्ट्रिशियन को जाने का परमिशन दिया है।

कुल 3 लोगों की अंदर जाने की अनुमति दिया गया है। जबकि यहां कुल 5 लोग अंदर घुसे थे। कांग्रेस के आरोप के बाद उप जिला निर्वाचन अधिकारी शर्मा ने कहा कि दो अन्य लोग अंदर कैसे घुसे वह इसकी जांच कराएंगे। विधायक गुरमुख सिंह होरा आनंद पवार और दिग्विजय सिंह की जिला निर्वाचन अधिकारी के कार्य पर सवाल उठाते हुए उसे गंभीर त्रुटि बताते हुए है उनकी निष्पक्षता पर सवाल उठाया है। साथ ही राज्य निर्वाचन आयोग से इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कर दोषी तत्वों पर कार्रवाई की मांग भी कांग्रेस ने की हैै।

वहीं जिला निर्वाचन अधिकारी से शिकायत के बाद इस मामले को गंभीरता से लेते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी सी आर प्रसन्ना और एसपी रजनेश सिंह खुद स्ट्रांग रूम पहुंचे और प्रत्याशी और उनके प्रस्तावक को साथ लेकर स्ट्रांग रूम के निरीक्षण के लए अंदर ले गए। इस बीच बाहर अधिकारियों की इस घोर लापरवाही के विरोध स्वरूप निर्दलीय प्रत्याशी आनंद पवार गेट के समक्ष धरने पर बैठे रहे। बहरहाल जिला निर्वाचन अधिकारी ने इस मामले में तहसीलदार को शोकाज जारी जवाब मांगा है तो वही सुरक्षा में लगे जवानों को एसपी के माध्यम से  स्पष्टीकरण मांगा गया है।


Share
Bulletin