लोरमी में बड़े तालाब के संरक्षण और सफाई को लेकर पंचायत प्रतिनिधियों की बड़ी लापरवाही उजागर

लोरमी में बड़े तालाब के संरक्षण और सफाई को लेकर पंचायत प्रतिनिधियों की बड़ी लापरवाही उजागर

संदीप सिंह ठाकुर : लोरमी के मुख्यमार्ग में गोड़खाम्ही गांव स्थित है। एकतरफ विभिन्न योजनाओं के तहत सरकार गाँव को आदर्श और सुंदर बनाने के लिए करोड़ों रुपए खर्च कर रही है। वहीं दूसरी तरफ लोरमी के गोड़खाम्ही में निस्तारी के लिए केवल एक ही बड़ा तालाब है जिसकी सफाई न होने से ग्रामीण खासे परेशान हैं। 

पंचायत प्रतिनिधियों की बड़ी लापरवाही उजागर
बता दें कि, यहां बड़े तालाब के संरक्षण और सफाई को लेकर पंचायत प्रतिनिधियों की एक बड़ी लापरवाही उजागर हुई है। गांव के तालाब में पसरी गंदगी के कारण स्थिति दयनीय बनी हुई है। ग्रामीणों का आरोप है उनके द्वारा इसकी जानकारी विभाग के अधिकारियों को देने के बाद भी आजतक कोई निराकरण नहीं किया गया है। वहीं गांव के युवा एकजुट होकर 18 दिनों से तालाब की सामुहिक सफाई कर रहे हैं। आपको बता दें इस तालाब के पानी का उपयोग पहले लोग खाना बनाने तक के लिए करते थे लेकिन आज आलम यह है तालाब में चारो तरफ गंदगी ही गंदगी है और लोग खाना बनाना तो दूर नहाते तक नहीं। 

तालाब की सफाई कराने के संबंध में मांग 
आरोप है कि सरपंच,सचिव द्वारा 15 साल के कार्यकाल में तालाब सफाई के लिए कोई काम ही नहीं कराया गया है। साथ ही ग्रामीणों ने कहा कि कई बार अधिकारियों से तालाब की सफाई कराने के संबंध में मांग की जा चुकी है। लेकिन इसकी सुध लेने वाला कोई जिम्मेदार जनप्रतिनिधि और अधिकारी नहीं है। वहीं तालाब के आसपास रहने वाले लोगों में बीमारी फैलने का खतरा भी बढ़ गया है।

मामले को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश
इस पूरे मामले को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश है उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा है कि जिले के जनप्रतिनिधि और अधिकारी मुख्यमार्ग से रोज गुजरते हैं।लेकिन हाल जानने कभी नहीं आये। ग्रामीणो की मांग है तालाब की सफाई के साथ ही चारो तरफ पचरी निर्माण सहित सौंदर्यीकरण कराया जाए। वहीं इस पूरे मामले में एसडीएम रुचि शर्मा ने जानकारी लेकर उचित कार्यवाही करने की बात कही है।
 


Share
Bulletin