इंदौर में सडक हादसे में 4 छात्र और ड्राइवर की मौत

इंदौर में सडक हादसे में 4 छात्र और ड्राइवर की मौत

इंदौर। इंदौर में शुक्रवार को भीषण सड़क हादसे में डीपीएस स्कूल के चार छात्रों और एक ड्रायवर की मौत हो गई। हादसा बायपास पर हुआ था। हादसे की खबर मिलते ही पूरे शहर में सनसनी फैल गई। पूरा प्रशासनिक महकमा और जनप्रतिनिधि घायलों का हाल जानने के लिए पहुंचे। वहीं,अस्पताल के बाहर रक्त दाताओं का भीड़ लग गई। एक मृत छात्रा के परिजनों ने उसकी स्किन और ऑखे दान करने का फैसला लिया है।

इंदौर में शुक्रवार का दिन ब्लैक फ्राइडे के तौर पर पेश आया। बायपास रोड़ पर हुए दर्दनाक सड़क हादसे में चार मासूम छात्रों के साथ एक बस ड्रायवर की मौत हो गई। दिल्ली पब्लिक स्कूल की बस शाम को करीब तीन बजे 13 छात्रों को स्कूल से उनके छोड़ने के लिए निकली थी। इसी दौरान बिचौली हप्सी बायपास पर अचानक बस का का स्टैरिंग फेल हो गया, और वो बायपास के डिवायडर को पास करते हुए दूसरे ओर से आ रहे ट्रक से जा टकराई। टक्कर इतनी जोरदार थी कि बस के परखच्चे उड़ गए। बस में सवार चार छात्र हरप्रीत कौर कुमार, श्रुती लुधियानी, स्वस्तिक पंड्या, कृति अग्रवाल और ड्रायवर राहुल यादव की मौत हो गई। वहीं, 8 छात्र और एक बस कंटक्टर भोलू का इलाज अस्पातल में चल रहा है।

हादसे की खबर लगते ही मानो पूरा इंदौर बाम्बे हॉस्पिटल में उमड़ गया था। अंदर जनप्रतिनिधी और अधिकारियों का मजमा लगा हुआ था। वहीं, बाहर सैकड़ों की संख्या में लोग रक्त दान के लिए पहुंच गए थे। इस दर्दनाक हादसे के लिए सभी स्कूल प्रबंधन को दोषी ठहराया है।

इतने बड़े हादसे के बाद भी परिजनों में सामाजिक दायित्व को निभाया है। मृत छात्रा कृति अग्रवाल के परिजनों ने उसकी स्कीन और ऑखे दान करने की घोषणा है। लेकिन इस हादसे ने पूरे इंदौर को झकझोर दिया है। लेकिन जिम्मेदारी किस पर तय होगी इसके लिए एक बार से जांच और आश्वासन का दौर चलेगा।


Share
Bulletin