15 क्विंटल मावे को जिला प्रशासन ने किया नष्ट, मिलावटी होने के संदेह में जप्त किया था मावा

15 क्विंटल मावे को जिला प्रशासन ने किया नष्ट, मिलावटी होने के संदेह में जप्त किया था मावा

धर्मेन्द्र शर्मा : ग्वालियर में जैसा कि अंदेशा था ठीक वैसा ही हुआ पांच दिन पहले एक ट्रैवल्स की बस से पकड़े गए करीब 15 कुंटल मावे को आखिरकार जिला प्रशासन को नष्ट करवाना पड़ा। पिछले 3 दिनों से खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग मावे के हकदार लोगों का इंतजार कर रहा था। मिलावटी होने के संदेह में जप्त किए गए इस मावे पर किसी ने अपना दावा नहीं जताया।

तीन दिन इंतजार करने के बाद आखिरकार इस मावे को नगर निगम की लैंडफिल साइट पर बड़ा सा गड्ढा खोदकर उसमें जेसीबी मशीन के जरिए जमींदोज कर दिया गया। दरअसल खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग ने तीन दिन पहले  कंपू स्थित शरद ट्रैवल्स की बस के बाहर से 32 डलिया मावा जप्त किया था ।जिसका वजन तकरीबन 15 क्विंटल था। मावे को मुरैना से लाया गया था और राजस्थान के कोटा भेजा जा रहा था ।चूंकि दीपावली का पर्व है इसलिए औषधि प्रशासन विभाग में बाहर से आने जाने वाले खाद्य सामग्री पर निगरानी शुरू कर दी है। खाद्य प्रशासन विभाग को जानकारी मिली थी कि मिलावटी मावा कोटा भेजा जा रहा है। इस सूचना पर उक्त मामले को जप्त किया गया था।

इस मामले को सुरक्षा की दृष्टि से कोतवाली थाने रखा गया था लेकिन मावे के मालिक द्वारा नमूने अपने सामने निकलवाने के लिए अफसरों से समय लिया जाता रहा। लेकिन वह नहीं आए। जिसके बाद जप्त मावे को लैंडफिल साइट पर ले जाकर जेसीबी के जरिए बड़ा सा गड्ढा खोदकर जमींदोज कर दिया गया। खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग ने बताया कि अभी भी 15 डलिया से ज्यादा अलग अलग स्थानों से जप्त किया गया मावा और पनीर रखा हुआ है। यदि उसके मालिक नमूने के लिए तैयार नहीं हुए तो उन्हें भी नष्ट किया जाएगा।

 


Share
Bulletin