तमनारः नेत्रानंद साहू पूर्व सैनिक का आकस्मिक निधन, सैकड़ों लोगों ने दी श्रद्धांजलि  

तमनारः नेत्रानंद साहू पूर्व सैनिक का आकस्मिक निधन, सैकड़ों लोगों ने दी श्रद्धांजलि  

दुलेन्द्र कुमार पटेल - रायगढ़ जिले के तहसील तमनार ग्राम पाता निवासी पूर्व भारतीय सैनिक नेत्रानंद साहू पिता लक्ष्मी प्रसाद साहू का 51 वर्ष की आयु में 1 नवम्बर को प्रातः काल लगभग 9 बजे आकस्मिक निधन हो गया। आकस्मिक निधन हो जाने से परिवार, समाज एवं तमनार अंचल के चहुं ओर शोक की लहर दौड़ गई। केलो कोयलांचल आदिवासी बाहुल्य तहसील तमनार जिला रायगढ़ छत्तीसगढ़ के लिए अपूर्णीय क्षति है। विधि विधान के साथ दाह संस्कार में सैकड़ों सामाजिक बन्धुओं, मित्रगण, ग्रामवासियों ने शामिल होकर श्रद्धांजलि दी गई।

2008 कारगिल युद्ध में विजय पताका में रहा सराहनीय योगदान

नेत्रानंद साहू 1 मई 1987 से भारतीय सैनिक में चयनित होकर कश्मीर घाटी में पदस्थ रहे। वहां कारगिल युद्ध 2008 में इनका सराहनीय योगदान रहा। इन्होंने हर वक्त अपनी जान हथेली पर ले कर अपने वतन की तन मन से समर्पित होकर मातृभूमि की रक्षा सेवा करते रहे। 31 मई 2005 को भारतीय सैनिक से सेवानिवृत्त हुए। ग्रामवासियों ने बताया कि नेत्रानंद साहू बाल्य काल से ही मेघावी, कठिन परिश्रमी, अनुशासित, दृढ़ निश्चयी छात्र थे। जो ठान लेते थे उसे पूरा करते थे। अचानक स्वास्थ्य खराब होने से इलाज हेतु रायगढ़ ले जा रहे थे, लेकिन रास्ते में ही निधन हो गया। परिवार, साहू समाज व विभिन्न सामाजिक संगठन एवं वरिष्ठ नागरिकों युवा, पत्रकर, सैकड़ों क्षेत्रवासियों द्वारा अश्रुपूरित विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित कर, आत्मा की बैकुंठधाम प्राप्ति हेतु प्रर्थना की गई। शोकाकुल परिवार को ढांढस बंधाते, इस वज्रघात से सहन शक्ति की परमात्मा से कामना की गई। वे अपनी पत्नी आहुति, बेटा तुलेश्वर नूतन, बहन सुकांति सेतकुमारी, छोटे भाई हेमसागर, लोकनाथ, माता मोगरा तथा अन्य परिवार को रोता विलखता छोड़ गए।


Share
Bulletin