डिंडोरी-अमरकंटक मार्ग को तेंदूपत्ता संग्राहकों ने किया चक्काजाम

डिंडोरी-अमरकंटक मार्ग को तेंदूपत्ता संग्राहकों ने किया चक्काजाम

शिवराम बर्मन : डिंडोरी में तेंदूपत्ता संग्राहक मजदूरों को तेंदूपत्ता ठेकेदारों ने पत्ता खरीदने से मना कर दिया, जिसके बाद मजदूरों ने तेंदूपत्ता से बंधी पोटलियों को सड़क पर रख हाईवे जाम कर दिया। इस मामले की जानकारी जब जिला प्रशासन को मिली तो मजदूरों को मनाने तहसीलदार और कोतवाली पुलिस मौके पर पहुँची। काफी समझाइस के बाद ग्रामीणों ने जाम खोला।

ठेकेदार ने तेंदूपत्ता को बताया अमानक
बता दें कि, पूरा मामला डिंडोरी से अमरकंटक मार्ग बिझोरी गांव के हर्रा फड़ का है। जहां तेंदूपत्ता संग्रह कर रहे मजदूरों से ठेकेदार ने तेंदूपत्ता को अमानक बताते हुए खरीदने से इंकार कर दिया। आक्रोशित मजदूरों ने बताया कि ठेकेदार ने यह कहकर इन्हें खरीदने से मना कर दिया कि यह उपयोगी नहीं है। जिसके बाद ग्रामीणों मजदूरों का आक्रोश फूटा और वे सड़क पर उतर रास्ता जाम कर धरने पर बैठ गए।

ठेकेदार के खिलाफ खोला मोर्चा
जब इस मामले की जानकारी प्रशासन को लगी तब आनन-फानन में करंजिया विकासखंड के तहसीलदार चंद्रशेखर मिश्रा डिंडोरी कोतवाली पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझाइस दी। तहसीलदार ने मौके से फोन पर ठेकेदार से बात कर तेंदूपत्ता खरीदने को कहा तब कहीं जाकर ग्रामीणों ने रास्ता खोला और धरने को समाप्त किया। बता दें कि, तेंदूपत्ता खरीदी शासन के निर्देशानुसार की जा रही है। किंतु देखा जा रहा है कि ठेकेदार और उनके लोगों के द्वारा ग्रामीणों को अनावश्यक रूप से परेशान कर उनके तेंदूपत्ता की खरीदी नहीं की जा रही थी। लगातार दो दिनों से परेशान ग्रामीणों ने मुख्य मार्ग पर चक्का जाम कर ठेकेदार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।


Share
Bulletin