पिता के अंतिम संस्कार में बेटे का दर्द छलका मुक्तिधाम ना होने से सोशल साइट पर लगाई गुहार

पिता के अंतिम संस्कार में बेटे का दर्द छलका मुक्तिधाम ना होने से सोशल साइट पर लगाई गुहार

राघवेंद्र सिंह - भिंड जिले की ग्राम पंचायत ऊमरी में 26 अक्टूबर की रात कैलाश निगम के पिता  रघु निगम का स्वर्गवास हो गया, वह 95 वर्ष के थे जिनकी अंतिम संस्कार के लिए रीति रिवाज के साथ मुक्तिधाम ले जाया गया मुक्ति धाम पहुंचते ही वहां पर पड़ी गंदगी से अंतिम संस्कार में गए नाते रिश्तेदारों ने मुक्तिधाम से मुंह मोड़ना शुरू कर दिया क्योंकि वहां गंदगी का अंबार था मुक्ति धाम के नाम पर एक चबूतरा बना था और आसपास मृत पशुओं के शव पड़े हुए थे।

पूरी घटना देख कैलाश निगम ने अंतिम संस्कार के वक्त एक वीडियो बनवाया जिसमें उन्होंने स्थानीय जनप्रतिनिधियों से आव्हान किया कि व्यक्ति को कम से कम मरने के बाद तो एक अच्छा स्थान मिलना चाहिए अंतिम संस्कार अपने पिताजी का कर रहे हैं वह बहुत ही गंदी जगह है। लगभग 10,000 से ज्यादा की आबादी इस पंचायत में है लेकिन मुक्ति धाम नहीं है वाहन चेकिंग के दौरान ऊमरी पुलिस को मिली अवैध आतिशबाजी।

 


Share
Bulletin