एक बार फिर डॉक्टरों की लापरवाही की खुली पोल, स्ट्रेचर के इंतजार में 108 के अंदर ही हुई डिलेवरी

एक बार फिर डॉक्टरों की लापरवाही की खुली पोल, स्ट्रेचर के इंतजार में 108 के अंदर ही हुई डिलेवरी

मुकुल शुक्ला - ये नजारा सागर जिले के एकमात्र डफरिन अस्पताल का जहां एक महिला अपनी प्रसूति कराने के चक्कर मे स्टाफ और स्टेचर के इंतजार में कम से कम आध घंटे इंतजार करती रही इस दौरान ना कोई डफरिन अस्पताल की नर्स और ना ही अस्पताल प्रबंधन की तरफ से स्टेचर का इंतजाम किया गया हम आपको बता दें की सागर के जेरेई जरारा की सुमन कुर्मी प्रसव पीड़ा होने के कारण ग्रामीणों 108 एम्बुलेंस को कॉल करके तुरंत जिला डफरिन के लिए रवाना हुए।

हद जब हो गई आध घँटे गेट पर इंतजार करने के बाद भी अस्पताल प्रबंधन की तरफ से दर्द से कराहती हुई महिला ने 108 एम्बुलेंस में एक नवजात शिशु को जन्म दिया प्रसव होने के बाद अस्पताल के वार्ड बॉय के द्वारा स्ट्रेचर पीड़ित महिला को उपलब्ध नही कराया गया।

जब इस संबंध मीडिया ने सीनियर डॉक्टर से पूछना चाहा तो उन्होंने मीडिया को बेतुका जवाब देते हुए कहा जो दिखाना है और जो छापना है वो छाप दो मुझे किसी का डर नहीं लेकिन सरकार आज भी चाहे कितनी भी स्वाथ्य विभाग की बड़ी बड़ी बातें करें लेकिन डॉक्टरों और स्टाफ की लापरवाही कहीं ना कहीं सामने दिखाई दे जाती है।

 


Share
Bulletin