पानी के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर ग्रामीण, योजनाएं सिर्फ कागजों तक

पानी के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर ग्रामीण, योजनाएं सिर्फ कागजों तक

रायसेन जिले के साँची विकास खंड की सेहतगंज ग्राम पंचायत पीपल खिरिया के ग्राम राजीव नगर के लोग पानी के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हो रहे हैं और जिले के जिम्मेदार अधिकारी यह सब तमाशा देख कर भी इन ग्राम वासियों के लिए पानी की कोई भी व्यवस्था करना उचित नहीं समझते है।

बता दें राजीव नगर बस्ती सेहतगंज में बीयर फैक्टरी के पास रायसेन भोपाल रोड पर स्थित है। और इसी रोड से जिले के सभी जिम्मेदार अधिकारी भोपाल से रायसेन अप डाउन करते हैं, और इन ग्रामवासियों को पानी के लिए परेशान होते हुए देखते है। मगर कभी किसी भी जिम्मेदार अधिकारी ने इन ग्रामीणों के लिये पानी की उचित व्यवस्था कराना मुनासिब नहीं समझा है।

ग्रामीणों के साथ विकलांग भी पानी भरने के लिए परेशान
सत्रह सौ की आबादी वाले राजीव नगर की बस्ती में लगभग पाँच सौ मकान है और पानी के लिये सिर्फ एक ट्यूबबेल है जिससे सभी ग्रामीण सुबह से देर रात तक पानी के लिये लाइन में ही लगे रहते है और अपनी बारी आने पर दो बाल्टी पानी ही भर पाते है। मीडिया की टीम जब इस गाँव में पहुंची और ग्रामीणों की हालत देखी जिनमें कई दिव्यांग भी पानी भरने के लिए अपनी ट्राइसाईकल लेकर आते हैं और लोगों की मदद से ट्राई साइकिल को नीचे उतरवा पाते हैं और पानी भरने के बाद साईकल को रोड के ऊपर धक्का लगवाकर चढ़ाते हैं क्योंकि नेशनल हाईवे 146 पर रोड के निर्माण का कार्य चल रहा है जिससे कि रोड की पुराई हो जाने के कारण रोड काफी ऊपर उठ गई है तो इन दिव्यांगों को पानी भरने के लिए लोगों का सहारा लेना पड़ता है।

​सिर्फ कागजों तक योजनाएं सीमित
वही पानी भरने के लिए जब यह दिव्यांग निकलते हैं तो इनकी ट्राइसाइकल से कभी भी कोई भी बड़ी दुर्घटना हो सकती है। मगर जिले के जिम्मेदार अधिकारी इनके प्रति कुछ भी करने की सोच भी नहीं रखते हैं वही इस राजीव नगर की बस्ती में होने को तो नल जल योजना की टंकी भी बनी हुई है,हकीकत में तो यह टंकी सिर्फ यह कागजों में ही चल रही है। विगत चार-पांच वर्षों से नल जल योजना की टंकी बंद पड़ी हुई है। 

किसी भी प्रकार की नहीं हुई सुनवाई
वही ग्रामीणों का यह कहना है कि हमको बहुत दूर से पानी लेकर आना पड़ता है मगर हमारी कोई सुनवाई नहीं हो रही है हमने कई बार जनसुनवाई में भी आवेदन दिए हैं मगर हमारी किसी भी प्रकार की कोई सुनवाई नहीं हुई है। इस मामले में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी मनोज वर्मा से इस बारे में बात की गई तो उनका कहना था कि आपके द्वारा जानकारी मिली है और मैं इस टंकी में क्या समस्या है दिखवाता हूं, और जल्द से जल्द लोगों को इस टंकी से पीने का पानी मिलेगा।

ट्यूबवेल लगवाने का दिया आश्वासन 
ग्रामीणों का कहना है कि आज तक लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग पीएचई के जिम्मेदार अधिकारी ने आकर टंकी का हाल तक नहीं देखा है तो यह पानी क्या देंगे। जब हम प्रशासन से उम्मीद हारकर स्थानीय विधायक एवं वन मंत्री डॉक्टर गौरीशंकर शेजवार जी से मिले तो उन्होंने तत्काल ही एक ट्यूबवेल लगवाया और जल्द ही पानी की और व्यवस्था करने के लिए 12 ट्यूबवेल और लगवाने का आश्वासन दिया है।


Share
Bulletin