पत्नी ने पति को रास्ते से हटाने का रचा षड्यंत्र, प्रेमी ने उतारा मौत के घाट

पत्नी ने पति को रास्ते से हटाने का रचा षड्यंत्र, प्रेमी ने उतारा मौत के घाट

मनोज सोलंकी : कानवन थाने के ग्राम वरनासा व बड़गारा के बीच रोड पर 1 नवंबर की सुबह थाना बड़नगर के एक युवक का शव मिला था। पुलिस ने प्रथम दृष्टया जांच के बाद हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी। इसमें सामने आया कि युवक की पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या की योजना बनाई। इसके बाद प्रेमी ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने इस मामले का पर्दाफाश करते हुए षड्यंत्र रचने वाली पत्नी सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

पत्नी ने पति को रास्ते से हटाने का रचा षड्यंत्र
प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम वरनासा व बड़गारा के बीच 1 नवंबर को रोड पर मिले शव की पहचान करणसिंह (35) पिता धन्नालाल बागरी निवासी नावदा बड़गारा थाना बड़नगर के रुप में हुई थी। कानवन पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति पर हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरु की थी। इसमें करणसिंह की पत्नी पेपाबाई ने ही प्रेमी कमल परमार के साथ मिलकर उसके पति को रास्ते से हटाने का षड्यंत्र रचा। कमल ने पहले अपनी प्रेमिका के पति को फोनकर बुलाया और शराब पिलाई। बाद में रस्सी से गला घोंटकर पत्थर से वार किए। इससे करण की मौत हो गई। पूरे मामले में कमल की दो साथियों ने मदद की।

गला घोंटकर पत्थर से किए वार
घटना की विवेचना करने पर पता चला कि करणसिंह की पत्नी पेपाबाई का गांव के ही कमल परमार से अवैध संबंध था। इस बात को लेकर करणसिंह व उसकी पत्नी पेपाबाई के बीच आएदिन विवाद होता था। इस संबंध में जानकारी मिलने पर पुलिस ने कमल पिता रामेश्वर बागरी को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की। कमल ने बताया कि करणसिंह की पत्नी पेपाबाई के साथ उसके करीब 5-6 साल से अवैध संबंध हैं। इसकी जानकारी करणसिंह को हो गई थी। इस कारण एक साल पहले उसका करणसिंह से विवाद भी हुआ था। दीपावली से पहले करणसिंह हैदराबाद से मजदूरी कर घर आया और पेपाबाई से विवाद करने लगा। भाईदूज पर पेपाबाई से मारपीट भी की। पेपाबाई ने कमल को फोन कर घटना के बारे में बताया और उसे रास्ते से हटाने की बात कही। 31 अक्टूबर को उसने अपने साथी पप्पू वागरी निवासी नावदा व कान्हा राजपूत निवासी धनियाखेड़ी के साथ मिलकर करणसिंह को रास्ते से हटाने की योजना बनाई। 

शराब पीने के बहाने बुलाया
योजनानुसार रात करीब 8 बजे उसने अपने साथी पप्पू व कान्हा के साथ करणसिंह को शराब पीने के बहाने बुलाया। फिर उसे बाइक पर बैठाकर कानवन रोड पर सुनसान जगह ले गए। वहां इन लोगों ने करणसिंह को खूब शराब पिलाई। नशे की हालत में कमल और कान्हा ने रस्सी से करणसिंह का गला घोंट दिया तथा पप्पू ने पत्थर से सिर पर वार कि या। इससे करणसिंह की मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद तीनों अपने घर चले गए। हत्या के समय कान्हा राजपूत के ट्रैक्टर की चाबी घटनास्थल पर गिर गई थी, जो घटना को सुलझाने में मुख्य सुराग बनी। तीनो आरोपियो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।


Share
Bulletin