शहपुरा गाँव में व्यापारी पर पहले धारदार हथियार से किया हमला फिर सिलेंडर में आग लगाकर शव को जलाया

शहपुरा गाँव में व्यापारी पर पहले धारदार हथियार से किया हमला फिर सिलेंडर में आग लगाकर शव को जलाया

अरविंद दुबे : 26 नवंबर को जबलपुर जिले के शहपुरा गाँव में एक व्यापारी राजकुमार जैन को जला कर ह्त्या करने और घर को लूटने की वारदात के आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पकडे गए आरोपियों में से एक नाबालिग है, शहपुरा निवासी शुभम श्रीवास्तव का विवाद मृतक के भतीजे विक्की जैन से था। बता दें ​कि शुभम श्रीवास्तव क्षेत्र का पुराना बदमाश है और उसके ऊपर कई आपराधिक मामले दर्ज हैं शुभम ने विक्की जैन को मारने के लिए प्लान तैयार किया और 26 नवम्बर देर रात राजकुमार के घर में प्रवेश किया। 

उस दिन राजकुमार के अलावा घर के सभी सदस्य इंदौर गए थे शुभम जब घर के अन्दर आया तब राजकुमार जाग गया और उसने शुभम को पहचान लिया। इस पर शुभम ने राजकुमार जैन पर धारदार हथियार से हमला कर दिया, इसके बाद राजकुमार के सिर पर गैस सिलेंडर पटक कर उसकी निर्मम ह्त्या कर दी। शुभम ने इसके बाद घर में रखे सोने चांदी के जेवर, नगद रकम और कुछ कागजात चुराए और फिर गैस सिलेंडर में आग लगा कर फरार हो गया। गैस सिलेंडर में लगी आग कुछ ही देर में पूरे कमरे में फ़ैल गयी और उसमे राजकुमार का शव भी जल गया। देर रात जब राजकुमार के घर से धुंआ उठता हुया नजर आया तब क्षेत्रीय लोगो ने फायर ब्रिग्रेड और पुलिस को सूचना दी।

पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर तफ्तीश प्रारंभ की, पुलिस ने मृतक के घर के पास लगे सीसीटीवी फुटेज चेक किये तब उसमे शुभम को राजकुमार के घर के अन्दर जाते हुए देखा गया। पुलिस ने शुभम की तलाश शुरू की इसी बीच क्षेत्र का ही एक नाबालिग भी संदेहास्पद गतिविधियों के तहत पुलिस की नजर में आ गया, पुलिस ने जब नाबालिग से मिले सुराग के बाद शुभम को भी गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के द्वारा की गयी पूछताछ में शुभम ने बताया की वह विक्की जैन को मारने के लिए राजकुमार के घर गया था लेकिन विक्की तो नही मिला लेकिन उसके चाचा राजकुमार ने उसे पहचान लिया था इसलिए उसने राजकुमार की ह्त्या कर दी और घर में रखे कीमती जेवर और नगदी लेकर घर में आग लगा दी। शुभम जब कीमती जेवर लेकर भाग रहा था तभी उसे रास्ते में उसका परिचित नाबालिग भी मिल गया जिसे लूटे हुए जेवर रखने के लिए दे दिए।

पुलिस ने आरोपी शुभम और उसके नाबालिग साथी से चोरी किये गए जेवर और नगदी बरामद कर ली है। शहपुरा गाँव में हुए इस जघन्य हत्याकांड की वजह से स्थानीय लोगो ने पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन भी किया था। जिससे पुलिस पर इस मामले का जल्द खुलासा करने का काफी दबाव भी था। एसपी अमित सिंह ने बताया की इस हत्याकांड का कोई चश्मदीद गवाह नही था इस वजह से मामले को सुलझाना बेहद कठिन था लेकिन शहपुरा थाने की टीम ने लगातार काम कर सबूत जुटाए और आरोपी को गिरफ्तार कर लूटा गया माल भी बरामद किया है।

-


Share
Bulletin