ऑडिट नहीं कराने वाली गृह निर्माण संस्थाओं पर होगी एफआईआर

ऑडिट नहीं कराने वाली गृह निर्माण संस्थाओं पर होगी एफआईआर

इंदौर। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी कहे जाने वाले इंदौर शहर के भूमाफिया जिन्हें जमीन के जादूगर भी कहा जाता है, ऐसे भूमाफियाओं ने सहकारिता की आड़ में करोड़ों रुपए कमा लिए और अपनी गृह निर्माण संस्थाओं का ऑडिट अब तक नहीं कराया है, इसी मुद्दे को स्वराज एक्सप्रेस ने प्रमुखता से उठाया था जिसके बाद सहकारिता मुख्यालय भोपाल से आदेश आए जिसके बाद ऐसी 300 संस्थाओं पर जिला सहकारी विभाग कार्रवाई करने जा रहा है, जिन्होंने ना तो प्रशासन को चार्ज दिया है ना ही अब तक ऑडिट कराया है।

बनाई अवैध कॉलोनियां...

मध्य प्रदेश की सबसे ज्यादा ग्रह निर्माण संस्थाएं इंदौर सहकारिता कार्यालय में रजिस्टर्ड हैं। नियम विरुद्ध इन्हीं  गृह निर्माण संस्थाओं ने सालों से सहकारिता विभाग की आड़ में जमीन की जादूगरी की और कई अवैध कॉलोनियां काटकर उसे बेच  दिया, लेकिन अपने ऑडिट में सहकारी सोसायटी में ना तो इसका नफा बताया ना नुकसान मतलब सालों से ऐसी संस्थाओं ने ऑडिट नहीं कराया, जिसके बाद स्वराज एक्सप्रेस ने ऐसी संस्थाओं को बेनकाब करना शुरू किया और लगातार इस मुद्दे को उठाया जिसके बाद सहकारिता विभाग हरकत में आया और भोपाल मुख्यालय ने ऐसी 300 संस्थाओं की सूची जारी कर दी जिन्होंने ना तो प्रशासक को चार्ज दिया ना ही अब तक ऑडिट कराया।

सहकारिता की आड़ में करोड़ों की कमाई...

अब इन संस्थाओं के खिलाफ प्रशासक FIR कराने जा रहे  हैं गौरतलब है कि सहकारिता का गठन आम लोगों को फायदा पहुंचाने के लिए किया गया था, लेकिन जमीन के जादूगरों ने इसी सहकारिता का सहारा लेकर करोड़ों रुपए की कमाई कर ली अब तक ऐसी कई गृह निर्माण संस्था है जिन्होंने कार्ड धारकों से रुपए तो जमा करा लिए हैं, लेकिन उन्होंने अब तक प्लाट भी नहीं दिए हैं।

 


Share
Bulletin