सकारात्मक दृष्टिकोण होना एक कप्तान के लिए बहुत जरुरी : विराट कोहली

सकारात्मक दृष्टिकोण होना एक कप्तान के लिए बहुत जरुरी : विराट कोहली

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने अपने एक बयान में कहा है कि मैं कप्तान के रूप में जितना कर सकता हूं उतना कर रहा हूं सभी के पास कप्तानी के अलग-अलग दृष्टिकोण हैं लेकिन मुझे लगता है कि मेरे और बाकी खिलाड़ियों में अच्छे सम्बन्ध हैं साथ ही हमारा आपसी तालमेल भी अच्छा है लेकिन सकारात्मक दृष्टिकोण होना एक कप्तान के लिए बहुत जरुरी होता है मुझे फक्र है कि मैं भारतीय क्रिकट टीम का कप्तान हूँ।

दूसरे खिलाड़ियों को है अभ्यास की जरूरत

गौरतलब है कि इंग्लैंड दौरे पर पहले टेस्ट मैच में मिली हार के कारण भारतीय टीम की बहुत आलोचना हो रही है भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी भी विराट ब्रिगेड को निशाने पर ले रहे है जिनमे सबसे बड़ा नाम सुनील गावस्कर का है लिटिल मास्टर के नाम से मशहूर सुनील गावस्कर ने विराट को मशवरा देते हुए कहा था कि विराट कोहली एक अनोखी प्रतिभा है वे 15 दिन की छुट्टी ले सकते हैं और फिर आकर शतक लगा सकते हैं इसमें कोई शक नहीं है लेकिन उन्हें और टीम प्रबंधन को समझना पड़ेगा कि दूसरे खिलाड़ियों को अभ्यास की जरूरत है।

इंग्लैंड के बीच दूसरा टेस्ट मैच 9 अगस्त से शुरू

वहीं भारत के पूर्व खिलाड़ी और मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने विराट कोहली को समझाइश देते हुए कहा है कि विराट को कभी संतुष्ट नहीं होना चाहिए अगर वे अपने प्रदर्शन से संतुष्ट हो गए तो बुरे दिन शुरू हो जाएंगे आपको बता दें कि भारत और इंग्लैंड के बीच दूसरा टेस्ट मैच 9 अगस्त यानि कल से शुरू हो रहा है 5 मैचों की इस सीरीज में भारत 1-0 से पिछड़ चुका है कल भारत के पास बराबरी करने का मौका रहेगा।


Share
Bulletin