कतर के प्रयास, विश्व के सबसे बड़े खेलों को पहली बार पश्चिम-एशिया में कराने की मांग

कतर के प्रयास, विश्व के सबसे बड़े खेलों को पहली बार पश्चिम-एशिया में कराने की मांग

कोरोना महामारी के कारण देश के कई कार्यो में रुकावटें आ गई है। इस दौरान 2020 में होने वाले ओलंपिक COVID-19 महामारी की वजह से एक वर्ष के लिए निरस्त कर दिए हैं। वहीं इस बीच कतर ने 2032 ओलंपिक और पैरालंपिक खेलों की मेजबानी करने की इच्छा व्यक्त की है। 2032 में होने वाले ओलंपिक खेलों में अभी एक दशक से अधिक का वक़्त है, किन्तु इसके बावजूद कतर ने इसकी मेजबानी करने की पेशकश की है। कतर ओलंपिक कमिटी ने ओलंपिक 2032 की मेजबानी करने के लिए इंटरनेशनल ओलिंपिक कमिटी को एक पत्र लिख कर इसकी सूचना प्रदान की है।

पहली बार पश्चिम-एशिया में होंगे विश्व के सबसे बड़े खेल
कतर के प्रयास विश्व के सबसे बड़े खेलों को पहली बार पश्चिम-एशिया में कराने की है। कतर 2022 में फीफा वर्ल्ड कप की मेजबानी करेगा। कतर ओलंपिक कमिटी के अध्यक्ष शेख जोआन बिन हमद बिन खलीफा अल-थानी ने अपने बयान में कहा, "आइओसी की भविष्य मेजबानी आयोग के साथ सार्थक बातचीत का प्रारम्भ हुआ। इससे यह भी ज्ञात होगा कि ओलंपिक खेल कतर के लॉन्ग टर्म  इवोल्यूशन उद्देश्यों का सपोर्ट कैसे कर सकते हैं। कई सालों तक हमारे देश के विकास में खेल की बहुत बड़ी भूमिका रही है।

कतर की मेजबानी को लेकर दिखाई रूचि
आगे बताते हुए उन्होंने कहा है, "यह शांति और संस्कृति के आदान-प्रदान को बढ़ावा देने के लिए खेल का इस्तेमाल करने की हमारी इच्छा को व्यक्त करता है। हमारे पहले के अच्छे रिकॉर्ड और एक्सपीरियंस कमीशन के साथ हमारी चर्चा का आधार बनेगा। वहीं, अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति यानी आइओसी ने इस पर कहा है, "हम कतर की मेजबानी को लेकर दिखाई गई रुचि का स्वागत करते हैं।
 


Share
Bulletin