मुंगेली : सरपंच व सचिव की मिलीभगत, फर्जी बिल लगाकर लाखों रुपए का आहरण, ग्रामीणों की नहीं हो रही सुनवाई

मुंगेली : सरपंच व सचिव की मिलीभगत, फर्जी बिल लगाकर लाखों रुपए का आहरण, ग्रामीणों की नहीं हो रही सुनवाई

संदीप सिंह ठाकुर : मुंगेली जिले के जनपद पंचायत लोरमी अंतर्गत मनोहरपुर गांव में सरपंच सचिव द्वारा अधिकारियों के संरक्षण में जमकर भ्रष्टाचार किया गया है। साथ ही इन दिनों लोरमी जनपद के अधिकारियों द्वारा जिला पंचायत सीईओ के आदेश की खुलेआम धज्जियां भी उड़ाई जा रही है। बता दें पूरा मामला मनोहरपुर गांव का सामने आया है जहां ग्रामीणों का आरोप है कि 5 साल के कार्यकाल में पंचायत सरपंच और सचिव ने मिलकर कई योजनाओं में जनपद के अधिकारियों के संरक्षण में फर्जी बिल लगाकर लाखों रुपए आहरण कर लिए है।

कई बार ग्रामीणों ने की शिकायत


जिसकी शिकायत ग्रामीणों के द्वारा लगातार कलेक्टर सहित जिला पंचायत के सीईओ से की गई। जिसपर जांच टीम के द्वारा जांच रिपोर्ट के आधार पर 26 लाख रुपये की रिकवरी निकालते हुए दोषी सरपंच और सचिव के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराने जिला पंचायत सीईओ द्वारा लोरमी जनपद के अधिकारी को निर्देशित भी किया गया। बावजूद इसके दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही तो दूर उल्टा उनके नाम से 5 लाख रुपए का चेक काट दिया गया। 

लोरमी में खुलेआम कमीशन का खेल


जनपद पंचायत लोरमी में खुलेआम कमीशन का खेल चल रहा है। वहीं ऐसे में अधिकारी और जनप्रतिनिधि सभी योजनाओं में पलीता लगाते हुए राशि बंदरबांट करने में मशगूल हैं। इस पूरे मामले में एकतरफ ग्रामीणों ने जल्द ही कार्यवाही नहीं हुई तो धरना प्रदर्शन व चक्काजाम करने चेतावनी दी है। तो दूसरी तरफ एसडीएम रुचि शर्मा ने विभाग से जानकारी लेकर कार्यवाही करने की बात कही है।


 


Share
Bulletin