बिलाईगढ़ के नायब तहसीलदार ने स्कुली बच्चों के गणवेश से भरे दो पीकअप वाहन को किया जब्त

बिलाईगढ़ के नायब तहसीलदार ने स्कुली बच्चों के गणवेश से भरे दो पीकअप वाहन को किया जब्त

अखिल मानिकपुरी - बलौदाबाजार जिले के बिलाईगढ़  नायब तहसीलदार अश्वनी चन्द्रा ने स्कुली बच्चो के गणवेश से भारी दो पीकप वाहन  को अवैध रुप से परिवहन करते हुए पवनी मोड़ के पास रोक कर जप्ती  कार्यवही किये है। जिसमे 8800 बच्चो के गणवेश सेट भरा हुवा था मामले की जानकारी बिलाईगढ़ विकासखंड  शिक्षा अधिकारी को दी गई है गणवेश से भरी वाहन चालक का कहना है कि वे हरिशकर साहू सकुल समन्वयक के कहने पर  बिलाईगढ़ के कैथा स्कुल से यह  सारी गणवेश लेकर आ रहे थे।

स्कुलो मे पढ़ाई का स्तर लगातार गिर रहा

बिलाईगढ़ विकासखंड का यह पहला मामला नही है जहाँ शिक्षा विभाग की लपरवाही सामने आई हो बताना चाहेगे कि इससे पहले भी बिलाईगढ़ मे बच्चो के लिऐ आये गणवेश को अवैध रुप से खपाने का मामला सामने और आ चुके है। वही  हाली मे ओपन स्कुल बोर्ड परीक्षा फर्म  को अवैध रुप से बेचने की घटना भी सामने आये है जिसे एसडीएम बिलाईगढ़  जांच कर रहे है। वहीं बिलाईगढ़ विकासखंड मे जब से बीईओ बनकर जे.आर.डहरिया आये है स्कुलो मे पढ़ाई का स्तर लगातार गिर रहा है।

योजनाएं तोड़ रही दम
शासन से स्कुल के लिए आने वाले योजनाऐ दम तोड़ रही है बिलाईगढ़ के बीईओ को कई बार हटाने की मांग भी की जा चुकी है पर न तो बीईओ  हटे है और न ही शिक्षा का स्तर सुधर रहा है बिलाईगढ़ के स्कुली बच्चो के आये किताबे, दवाईयाँ बीईओ आफिस मे कुड़े कचरे  के समान रखा गया है स्कुली बच्चों के पास स्कुल आने के लिए  फटे पुराने गणवेश है क्यो कि उन्हे गणवेश वितरण नही किया गया नन्हे बच्चे स्कुल मे पढ़ने तो जाते है पर कई जगह बच्चो को मजदुरो की तरह काम करते देखा गया है।

नहीं हुई किसी के खिलाफ कोई कार्यवाही

ऐसे मे बड़ा सवाल ऐ है कि क्या इतने लापरवाह ब्लाक शिक्षा अधिकारी को उनके पद पर बने रहना चाहिए और क्या गणवेश को अवैध रुप से खपाने के मामले मे टीम गठीत कर जांच नही होनी चाहिए। बिलाईगढ़ के गोविन्दबन हाईस्कूल शिक्षको ने मुर्गा शराब का पार्टी किया था जिस पर आज तक किसी भी प्रकार की कार्यवाही नही किया गया है जिसे देखकर साफ साफ लगता है कि अधिकारीयो की साठ-गाठ ने विकास खण्ड की शिक्षा की स्तर को बर्बाद  कर रखे है।

 


Share
Bulletin