पुलिस का मुखबिर बताकर नक्सलियों ने एक ग्रामीण की गोली मारकर की हत्या

पुलिस का मुखबिर बताकर नक्सलियों ने एक ग्रामीण की गोली मारकर की हत्या

सुशील सलाम - छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित कांकेर जिले में नक्सलियों ने एक ग्रामीण की गोली मारकर हत्या कर दी। कांकेर जिले के पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिले के पखांजूर थाना क्षेत्र के अंतर्गत माचपल्ली गांव में नक्सलियों ने रैजू आंचला की पुलिस मुखबरी करने के शक में गोली मारकर हत्या कर दी। |

शव को सड़क किनारे फेंका

जैसा कि ग्रामीणों ने बताया कि बीती रात हथियारबंद नक्सली माचपल्ली गांव पहुंचे और रैजु राम आंचला को जबरन अपने साथ ले गए। गांव से कुछ दूर जंगल में ले जाकर नक्सलियों ने रैजू की गोली मारकर हत्या कर दी। और उसके शव को सड़क किनारे फेंक दिया गया। इस जखन्य हत्याकांड को अंजाम देने के बाद माओवादी अतिवादियों की परतापुर एरिया कमेटी ने गांव में बैनर लगाया है। जिसमे रैजू आचला को साल 2008 में कथित जनअदालत लगाकर चेतावनी देने की बात कही गई है। रैजू आचला को गोली मारकर मौत के घाट उतारने के पहले नक्सलियों ने उसके साथ मारपीट की। और उसे पुलिस का मुखबिर बताकर यातना दी गई। 

मृतक का सुरक्षा बलों के साथ कोई संबंध नहीं

बता दें कि नक्सलियों ने जिला पुलिस और बीएसएफ को सूचना देकर नक्सलियों को पकड़वाने का आरोप भी लगाया है। दूसरी ओर पुलिस अधिकारियों ने कहा कि मृतक का सुरक्षा बलों के साथ कोई संबंध नहीं था। उसे जानबूझकर निशाना बनाया गया है। पुलिस अधीक्षक कन्हैयालाल ध्रुव ने कहा कि मुखबिर शब्द नक्सलियों की मानसिक विकार का परिचायक है। खुद को गरीबों का मसीहा बताने वाले माओवादी गरीब जनता की हत्या करके अपनी बौखलाहट को छिपाना चाहते है।

 


Share
Bulletin