रेलवे का निजीकरण किए जाने से लोको पायलट और रनिंग स्टाफ आक्रोशित, 24 घंटे का उपवास रख किया विरोध प्रदर्शन

रेलवे का निजीकरण किए जाने से लोको पायलट और रनिंग स्टाफ आक्रोशित, 24 घंटे का उपवास रख किया विरोध प्रदर्शन

मनोज यादव : सरकार द्वारा रेलवे को निजीकरण व निकम्मीकरण किए जाने से लोको पायलट और रनिंग स्टाफ आक्रोशित हैं। बता दें कि अपनी मांगों को लेकर कर्मियों ने 24 घंटे का उपवास रख विरोध प्रदर्शन किया और आने वाले समय में मांगे पूरी नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

रेलवे को निजी हाथों में सौंपने की साजिश का आरोप
ऑल इंडिया लोको रनिंग स्टाफ एसोसिएशन ने केंद्र सरकार पर रेलवे को निजी हाथों में सौंपने की साजिश रचने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि रेलवे को निजीकरण व निगमीकरण किए जाने से नुकसान होगा। अपनी मांगों को लेकर कोरबा शाखा के रनिंग स्टाफ स्टेशन के सामने दुर्गा पंडाल पर विरोध स्वरूप 24 घंटे की उपवास पर बैठे रहे और सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की। 

सात मांगों को लेकर कर रहे आंदोलन
एसोसिएशन का कहना है कि उनके साथ ज्यादती की जा रही है इस पर रोक लगाने का वह विरोध कर रहे हैं। रनिंग स्टाफ माइलेज भत्ता 1980 के आधार पर निर्धारित करने सहित सात बिंदुओं को लेकर वह आंदोलन कर रहे हैं। आने वाले समय में अगर उनकी मांगे पूरी नहीं की गई तो वह उग्र आंदोलन पर उतर जाएंगे।


Share
Bulletin